Friday , December 3 2021

2019 की बिसात पर एक और राजनीतिक पार्टी, सभी सीटों से ठोकेगी ताल

नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस से जुड़ी पूर्वांचल जनता पार्टी (सेक्‍यूलर) की ओर से गोरखपुर में उतरेंगी साध्‍वी गीता मिश्रा

 

लखनऊ। 2019 के आम चुनावों की बिसात बिछ रही है। विभिन्‍न राजनीतिक दल अपने-अपने एजेंडे को लेकर जनता को लुभाने का प्रयास शुरू किये जा चुके हैं। इसी क्रम में सियासी जंग में उतरने के लिए एक और पार्टी सामने आयी है। पूर्वांचल जनता पार्टी (सेक्‍यूलर) के सियासतदानों ने यहां गोमती नगर स्थित ताज होटल में आयोजित अपनी प्रेस वार्ता में यह ऐलान किया कि वह भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के विकल्‍प के रूप में अपने को देख रही है, और देश के सबसे बड़े राज्‍य उत्‍तर प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर प्रत्‍याशी उतारने का फैसला लिया है।

 

नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस से खुद को जोड़ने वाली इस पार्टी के राष्‍ट्रीय संयोजक मुकेश सिंह ने यह घोषणा करते हुए बताया कि पार्टी की उत्‍तर प्रदेश इकाई की अध्‍यक्ष साध्‍वी गीता मिश्रा गोरखपुर से प्रत्‍याशी होंगी, प्रेस वार्ता में बताया गया कि शेष नामों की घोषणा जल्‍दी ही की जायेगी। ऊन्‍होंने बताया कि उड़ीसा, बिहार के बाद अब उत्‍तर प्रदेश में पार्टी अपना संगठन मजबूत कर रही है। पत्रकार वार्ता को राष्‍ट्रीय महासचिव और उत्‍तर प्रदेश के प्रभारी शिवेन्‍द्र गौड़, राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता संजीव झा ने भी सम्‍बोधित किया। पार्टी की ओर से बताया गया कि उत्‍तर प्रदेश में पार्टी को मजबूत करने को लेकर हम सभी पदाधिकारियों की बैठक की गयी थी। इस बैठक में पदाधिकारियों को जिम्‍मेदारी सौंपने से लेकर जनता से जुड़े मुद्दे, जिन्‍हें हल किये जाने की जरूरत है, पर चर्चा की गयी।

 

मुकेश सिंह ने बताया कि उत्‍तर प्रदेश की अगर बात करें तो जनसंख्‍या एवं राजनीतिक दृष्टिकोण से यह भारत का सबसे बड़ा राज्‍य है, तथा केंद्र में सत्‍तारूढ़ सरकार के सहयोग के बिना यहां का विकास संभव नहीं है। कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों के कार्यकाल वाली सरकारों ने इसमें रुचि नहीं दिखायी। उन्‍होंने कहा कि हमारी पार्टी को अगर मौका मिला तो हम विशेष रूप से शिक्षा, कृषि पर विशेष ध्‍यान देंगे जिससे रोजगार के अवसर सृजित होंगे जो कि समय की आवश्‍यकता है। उन्‍होंने कहा कि हमारी पार्टी का सबसे पहला उद्देश्‍य उत्‍तर प्रदेश को जाति एवं धर्म के आधार पर बांटने वालें राजनीतिज्ञों से बचाना है, तथा प्रदेश के सर्वांगीण विकास एवं बेहतर भविष्‍य के लिए सभी धर्म एवं वर्ग के लोगों को एकसाथ लेकर चलना है।