ऑर्गन बेस सर्जरी पर फोकस करेगा केजीएमयू का जनरल सर्जरी विभाग

प्रो अभिनव अरुण सोनकर व डॉ फराज अहमद

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय केजीएमयू के जनरल सर्जरी विभाग में अब ऑर्गन बेस सर्जरी यानी अंगों के अनुसार सर्जरी की शुरुआत की गयी है। इसके तहत विभाग को आठ इकाइयों में विभाजित करके हर इकाई के लिए स्पेशियलिस्ट डॉक्टरों का पैनल बना दिया गया है। इन इकाइयों में लिवर, पैंक्रियाज, गॉलब्लेडर जैसी सर्जरी के लिए हिपैटोबिलेरी सर्जरी, हेड एंड नेक सर्जरी, कोलोरेक्टल सर्जरी, ऑन्कोसर्जरी, थोरेसिक सर्जरी, ट्रॉमा सर्जरी शामिल हैं।  इन सभी प्रकार की सर्जरी में और निपुणता हासिल करने के लिए चिकित्सकों को विदेश भेजने की भी योजना है। यूके सहित अन्य स्थानों के विभिन्न प्रकार की सर्जरी के विशेषज्ञों द्वारा 13 से 18 फरवरी तक यहां जनरल सर्जरी विभाग में  लेक्चर देने का कार्यक्रम तय किया गया है। यह कार्यक्रम विभाग के 62वें स्थापना दिवस पर आयोजित किया जा रहा  है।
छह दिवसीय स्थापना दिवस समारोह में तीन व्याख्यानों का होगा आयोजन
आज यहां आयोजन की जानकारी देते हुए विभागाध्यक्ष व कार्यक्रम के चेयरमैन प्रो अभिनव अरुण सोनकर ने बताया कि केजीएमयूू परिसर में छह दिनों के इस कार्यक्रम में  एक सीएमई का भी आयोजन किया गया है इस अवसर पर तीन व्याख्यानों का भी आयोजन किया गया है इनमें ट्रेनिंग द सर्जन इन द इरा ऑफ लैप्रोस्कोपिक सर्जरी-ए पर्सनल पर्सपेक्टिव विषय पर प्रो एसएसी मिश्र व्याख्यान ब्रीच कैंडी अस्पताल मुंबई के हेड प्रो टेहेमटन ई उडवाडिया प्रस्तुत करेंगे। वहीं कम्पलीट रेक्टल प्रोलेप्स-माई जर्नी टू सिम्प्लीफाई इट्स ट्रीटमेंट पर व्याख्यान बीएचयू वाराणसी के प्रो अजय के शर्मा तथा सर्जरी फॉर पैंक्रियाटिक कैंसर, स्टेट ऑफ द आर्ट पर व्याख्यान टाटा मेमोरियल सेंटर मुंबई के प्रो शैलेश वी श्रीकंडे देंगे। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कुलपति प्रो रविकांत होंगे।
उपलब्धियों का ब्यौरा होगा प्रस्तुत
समारोह के ऑर्गेनाइजिंग सेक्रेटरी डॉ फराज अहमद ने बताया कि स्थापना दिवस समारोह में विभाग की साल भर की उपलब्धियों की जानकारी दी जायेगी। जनरल सर्जरी विभाग द्वारा पिछले एक साल में ओपीेडी में आये 50445 रोगियों को देखा गया जबकि 10074 सर्जरी की गयीं। विभाग की इस वर्ष की खास उपलब्धियों में विभागाध्यक्ष प्रो अभिनव अरुण सोनकर को रॉयल कॉलेज आयरलैंड, इंगलैंड, गलास्गो द्वारा एक आरसीएस के लिए चुना गया साथ ही इटली के पाविया विश्वविद्यालय द्वारा इंटरनेशनल विजिटर का सम्मान भी प्रो सोनकर को दिया गया। उनके अतिरिक्त विभाग के अन्य शिक्षकगणों को भी कई फेलोशिप व पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। संकाय सदस्यों व स्नातकोत्तर छात्रों द्वारा ईबीएम व एटीएलएस जैसे कार्यक्रमों में निपुणता हासिल की गयी। कार्यक्रम के कोऑर्गेनाइजिंग सेक्रेटरी डॉ अक्षय आनंद हैं।