राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय मानकों वाले अस्‍पताल का दर्जा मिला अजंता हॉस्पिटल एंड आईवीएफ सेंटर को

मरीजों की गुणवत्‍तापरक सेवाओं के लिए एनएबीएच प्रमाणपत्र

लखनऊ। एनबीएएच यानी क्‍वालिटी वाली चिकित्‍सा सुविधाओं का प्रमाणपत्र। उच्‍च गुणवत्‍ता के मानक पूरे करने वाले अजंता हॉस्पिटल एंड आईवीएफ सेंटर को नेशनल एक्रीडिएशन बोर्ड फॉर हॉस्पिटल्‍स एंड हेल्‍थकेयर प्रोवाइडर्स से एनएबीएच का प्रमाण पत्र प्राप्‍त हो गया है। आपको बता दें कि एनएबीएच सार्टीफि‍केट उच्‍च श्रेणी की गुणवत्‍ता परक सेवा देने वाले अस्‍पतालों को प्रदान किया जाता है।

 

अस्‍पताल प्रशासन द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार एनएबीएच से प्राप्‍त  प्रमाण पत्र उन्‍हीं अस्‍पतालों को दिया जाता है जो गुणवत्‍ता, मरीजों की सुरक्षा, दक्षता और मरीजों के प्रति जवाबदेही की संस्‍कृति विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध हों। इसके अतिरिक्‍त ऐसे अस्‍पताल राष्‍ट्रीय-अंतरराष्‍ट्रीय मानकों के अनुसार मरीज की देखभाल के लिए प्रोटोकॉल्‍स और नीतियों को स्‍थापित करने की जिम्‍मेदारी निभाते हैं।साथ ही दवा प्रबंधन, सहमति प्रक्रिया, मरीज की सुरक्षा, क्‍लीनिकल परिणाम, चिकित्सा रिकॉर्ड, संक्रमण नियंत्रण और पर्याप्‍त कर्मचारी रखते हैं। इन अस्‍पतालों में मरीज का इलाज आदर, गरिमा और शिष्टाचार के साथ किया जाता है।

 

इसी प्रकार इस श्रेणी में आने वाले अस्‍पतालों में मरीजों की देखभाल और इलाज के निर्णय में मरीजों की सहमति शामिल रहती है। इन अस्‍पतालों में मरीजों का इलाज योग्‍य एवं प्रशिक्षित चिकित्‍सकों व स्‍टाफ द्वारा किया जाता है। इन अस्‍पतालों में मरीज की प्रतिक्रिया ली जाती है, यदि मरीज को किसी प्रकार की कोई शिकायत होती है तो उसका समाधान तुरंत किया जाता है। इन अस्‍पतालों में इलाज पर होने वाले खर्च में पारदर्शिता के साथ ही रेट निर्धारण होता है। इन अस्‍पतालों के प्रबंधन द्वारा बेहतर सेवाओं के लिए अस्‍पताल के कार्यों पर बराबर नजर रखी जाती है।