फार्मासिस्टों की सभी समस्याओं का हल होगा 21 अप्रैल को

लखनऊ। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में 21 अप्रैल को स्टाफ डे के अंतर्गत सभी समस्याओं को सुना जायेगा। बैठक में अधिकारियो को भी बुलाकर समस्याओं का तत्काल समाधान करने का प्रयास होगा। इसके साथ ही जिले के चिकित्सालयों और अर्बन केंद्रों पर औषधियां ले जाने पर भुगतान की समस्या पर केंद्रीयकृत व्यवस्था बनाकर कार्यालय से गाडिय़ां उपलब्ध कराने की बात कही गयी है।

सीएमओ ने प्रतिनिधिमंडल को दिया आश्वासन

डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन लखनऊ शाखा के प्रतिनिधिमंडल के साथ बुधवार को हुई वार्ता में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ(मेजर) जी एस बाजपेयी ने पदाधिकारियों को इन मुद्दों पर आश्वासन दिया। यह जानकारी देते हुए मंत्री आरआर चौधरी ने बताया कि संघ के जिला अध्यक्ष जे पी नायक , मंत्री आर आर चौधरी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष वी पी सिंह और प्रांतीय प्रवक्ता सुनील यादव ने आज मुख्य चिकित्सा अधिकारी से उनके कक्ष में वार्ता कर पत्र सौंपा, संघ ने अवगत कराया कि संघ की मांग के संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा 2 बार जारी निर्देशों के बावजूद संवर्ग की समस्याएं अभी भी लंबित हैं ।
उन्होंने कहा कि नव नियुक्त फार्मेसिस्टों की सेवा पुस्तिका अभी नही बनी है, प्रान नम्बर एलॉट नही है, 1-1-06 से वेतन निर्धारण अभी नही हो सका है, सरोजनीनगर सहित कुछ सीएचसी में विगत वर्षों के डी ए एरियर , बोनस नहीं मिला है,  सदस्यों की सेवा पुस्तिका, जी पी एफ पासबुक अधूरी है, लोगों के एसीआर नहीं लिखे जा रहे हैं।
उन्होंने बताया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा हैं कि 21 अप्रैल को समस्याओं का समाधान किया जायेगा । उन्होंने यह भी कहा कि जिन कर्मचारियों की समस्याएं हैं वे स्वयं 21 अप्रैल को आकर लिखित में अवगत भी कराएं ।