Thursday , April 25 2024

दांतों की सफाई पर दृष्टिबाधित विद्यार्थियों के लिए पहली बार कार्यशाला

-डॉ. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय एवं किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के संयुक्त तत्वावधान में किया गया कार्यशाला का आयोजन

-दांतों के मॉडल को दृष्टिबाधित विद्यार्थियों को हाथों से स्पर्श करा कर सही प्रकार से ब्रश करने के तरीके

सेहत टाइम्स

लखनऊ। डॉ0 शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय में दृष्टिबाधित विद्यार्थियों के लिए मुख स्वास्थ्य एवं स्वच्छता विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस प्रकार की कार्यशाला का आयोजन लखनऊ में प्रथम बार किया गया, जिसमें दृष्टिबाधित विद्यार्थियों को उनके दंत संबंधी स्वास्थ्य एवं साफ-सफाई की विस्तृत जानकारी दी गयी।

19 फरवरी को आयोजित इस कार्यशाला को डॉ. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय में विशेष शिक्षा संकाय के अंतर्गत संचालित दृष्टिबाधितार्थ विभाग एवं किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के कंजरवेटिव डेंटिस्ट्री एवं एंडोडोंटिक्स विभाग के संयुक्त तत्वावधान में किया गया| इस कार्यशाला में किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के कंजरवेटिव डेंटिस्ट्री एवं एंडोडोंटिक्स विभाग की विभागाध्यक्ष प्रोफेसर प्रोमिला वर्मा एवं प्रोफेसर रिदम के साथ-साथ सरस्वती डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के दंत विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर विवेक कुमार बैंस ने विद्यार्थियों को महत्वपूर्ण जानकारियां दीं।

प्रोफेसर प्रोमिला एवं प्रोफेसर रिदम ने अपने साथ में लाए हुए दांतों के मॉडल को दृष्टिबाधित विद्यार्थियों को हाथों से स्पर्श करा कर सही प्रकार से ब्रश करने के तरीके सबंधी क्रियाएं भी विद्यार्थियों से करवाईं | इन विशेषज्ञों ने खान-पान की आदतें एवं दंत सुरक्षा स्वास्थ्य की दृष्टि से अन्य बिंदुओं पर अपने विचार भी व्यक्त किये तथा दृष्टिबाधित विद्यार्थियों से मुंह की सुरक्षा को सुनिश्चित करने एवं इसके लिए जिम्मेदार कारकों के संबंध में संवादात्मक क्रियाकलाप भी करवाया। विश्वविद्यालय के दृष्टिबाधित विद्यार्थियों ने भी इस कार्यशाला में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और दांतों की सुरक्षा एवं स्वास्थ्य को भली भांति समझने के लिए विशेषज्ञों के समक्ष अनेक प्रकार की जिज्ञासाएं प्रकट कीं जिसका संपूर्ण समाधान कार्यशाला के तीनों दंत विशेषज्ञों ने बड़ी ही सहजता से बताया |

इस कार्यशाला में विश्वविद्यालय के 80 दृष्टिबाधित विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया तथा इन विद्यार्थियों को सहयोग प्रदान करने के लिए 20 दृष्टिवान साथियों ने भी भागीदारी की। कार्यशाला के दौरान दृष्टिबाधित विद्यार्थियों के को छोटे-छोटे समूह में विभक्त कर संपूर्ण दंत संबंधित क्रियाओं को प्रत्यक्ष रूप से अनुभव कराया गया। कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए विश्वविद्यालय के विशेष शिक्षा संकाय के अधिष्ठाता प्रोफेसर रजनी रंजन सिंह ने अपने उद्द्बोधन में विद्यार्थियों को दंत चिकित्सा एवं इसकी सुरक्षा की जरूरत पर बल दिया तथा ऐसी और कार्यशालाओं को भविष्य में आयोजित करने की बात कही।

दृष्टिबाधितार्थ विभाग के अध्यक्ष डॉ0 विजय शंकर शर्मा ने प्रतिभागियों को इस कार्यशाला को आयोजित करने की आवश्यकता एवं महत्व के बारे में जानकारी प्रदान की। कार्यशाला के समन्वयक दृष्टिबाधितार्थ विभाग के सहायक आचार्य डॉ0 बृजेश कुमार राय ने सभी विशेषज्ञों, शिक्षकों एवं प्रतिभागियों का स्वागत किया। दृष्टिबाधितार्थ विभाग के नीरज दीक्षित ने कार्यशाला के अंत में सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस कार्यशाला में डॉ. कौशल शर्मा, डॉ. आद्या शक्ति राय, डॉ. दिनेश कुमार, आशीष कुमार गुप्ता, चेत नारायण पटेल, डॉ. महेश कुमार चौधरी, डॉ. संजय कुमार, नीरज दीक्षित, पूजा, नीलम सिंह एवं संकाय के सभी शिक्षक सम्मलित हुए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.