Thursday , December 2 2021

अंगदान के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए एसजीपीजीआई में 27 नवंबर को वेबिनार

-12वें भारतीय अंगदान दिवस पर सोटो व पीजीआई संयुक्‍त रूप से आयोजित कर रहे कार्यक्रम  

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। 12वें भारतीय अंगदान दिवस के अवसर पर राज्य अंग और ऊतक प्रत्यारोपण संगठन (सोटो), उत्तर प्रदेश और अस्पताल प्रशासन विभाग, संजय गांधी पीजीआई, लखनऊ के संयुक्‍त तत्‍वावधान में पीजीआई संस्‍थान में 27 नवंबर को एक वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है। वेबिनार में राष्ट्रीय अंग प्रत्यारोपण कार्यक्रम को आगे बढ़ाने, अंगदान के बारे में जागरूकता पैदा करने और उत्तर प्रदेश के अंग दाता समूह को बढ़ाने पर विचार-विमर्श किया जायेगा।

संस्‍थान द्वारा जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी देते हुए कहा गया है कि  कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में नोडल अधिकारी, सोटो-यू.पी. डॉ. आर. हर्षवर्धन आरंभिक वक्तव्य देंगे। संस्थान के निदेशक प्रो. आरके धीमन स्वागत अभिभाषण प्रस्तुत करेंगे,  प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार ‘अंग और ऊतक दान : समय की आवश्यकता’ विषय पर अपने विचार रखेंगे । इसके बाद   अध्यक्ष, एस जी पी जी आई व मुख्य सचिव आरके तिवारी  “अंग और ऊतक दान के महत्व : सरकार का परिप्रेक्ष्य” विषय पर चर्चा करेंगे। मंत्री, वित्त विभाग, संसदीय कार्य और चिकित्सा शिक्षा सुरेश कुमार खन्ना “अंग और ऊतक के लिए शपथ : इसे एक आंदोलन बनाने का समय” पर अपने विचार रखेंगे। वेबिनार का मुख्य अभिभाषण उत्तर प्रदेश की राज्यपाल व संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान की कुलानुशासक आनंदीबेन पटेल  द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा।

उद्घाटन सत्र के बाद अंग और ऊतक दान पर जागरूकता अभियान में भाग लेने वाले छात्रों के लिए जागरूकता सत्र का आयोजन किया जाएगा। यह जागरूकता अभियान 4 सितम्बर से 25 सितंबर के बीच प्रत्येक शनिवार को लखनऊ के स्कूलों में SOTTO-U.P. द्वारा आयोजित किया गया था। जागरूकता अभियान में जागरूकता सत्र में भाग लेने वाले छात्रों के लिए एक जागरूकता सत्र और एक 2-चरण पोस्टर बनाने की प्रतियोगिता शामिल थी। जागरूकता सत्र के समापन के बाद,  4 सितंबर से 25 सितंबर तक प्रत्येक शनिवार को संबंधित स्कूलों में पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का चरण-1 आयोजित किया गया था।

पूरे लखनऊ के 23 स्कूलों ने जागरूकता अभियान में भाग लिया। जागरूकता अभियान के प्रत्येक सत्र में 400 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया, जिन्होंने इस उद्देश्य में सक्रिय रुचि दिखाई और पूरे दिल से इंटरैक्टिव सत्र में भाग लिया व अंगदान के बारे में ज्ञानवर्धन किया।

पोस्टर बनाने की प्रतियोगिता के चरण-1 में भाग लेने वाले स्कूलों के छात्रों से 249 प्रविष्टियां प्राप्त हुईं। इसके बाद 9 अक्टूबर को जागरूकता सत्र का दूसरा चरण आयोजित किया गया, इसमें 65 छात्रों का चयन किया गया।

27 नवंबर को आयोजित होने वाले वेबिनार के दौरान जागरूकता सत्र के बाद उन्हें सम्मानित किया जाएगा। जागरूकता सत्र में अंग और ऊतक दान पर प्रेरक वीडियो,  अंग दान पर वार्ता: “जीवन का एक उपहार” : प्रो. आर. के. धीमन द्वारा तथा ‘मिथकों और वास्तविकताओं’ विषय पर छात्रों के साथ एक इंटरएक्टिव सत्र आयोजित किया जाएगा। पोस्टर प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार वितरण के साथ जागरूकता सत्र का समापन होगा।

तत्पश्चात एक अन्य जागरूकता कार्यक्रम “अंग और ऊतक पुनर्प्राप्ति केंद्रों और प्रत्यारोपण केंद्रों की भूमिका व गतिविधियां” के अन्तर्गत आयोजित किया जायेगा। सोटो द्वारा आयोजित इस वेबिनार का उद्देश्य अंग और ऊतक प्रत्यारोपण के कानूनी और प्रशासनिक पहलुओं के विषय में जन जागरूकता को बढ़ाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 − three =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.