Saturday , January 29 2022

मोदी से मिलने के बाद उद्धव ठाकरे बोले, सीएए-एनपीआर से डरने की जरूरत नहीं

-आजकल दिल्‍ली के दौरे पर हैं महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री, साथ में आदित्‍य ठाकरे भी

नई दिल्ली/लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर दो महीने से चल रहे विरोध, शाहीनबाग में जारी प्रदर्शन के बीच केंद्र सरकार को संतोष देने लायक खबर है। शिवसेना प्रमुख व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून पर किसी को डरने की जरूरत नहीं है, इस कानून से किसी की भी नागरिकता नहीं जाएगी।

उद्धव ठाकरे ने यह बात एक नयी दिल्‍ली में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी से मुलाकात के बाद आयोजित एक पत्रकार वार्ता में कही है। शिवसेना सांसद संजय राउत के सरकारी निवास पर आयोजित इस पत्रकार वार्ता में उद्धव के साथ उनके साथ उनके बेटे और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्‍य ठाकरे भी मौजूद थे। आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे की प्रधानमंत्री से मुलाकात की खबर पीएमओ के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर दी गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पत्रकारों से बात करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि उनकी प्रधानमंत्री मोदी से नागरिकता संशोधन कानून पर चर्चा हुई। उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा कि राष्ट्रीय जनसंख्या पंजीकरण यानी एनपीआर से भी किसी को खतरा नहीं है। यह कानून भी किसी भी नागरिक को देश से बाहर नहीं करेगा। उन्‍होंने कहा कि सीएए और एनपीआर के बारे में मैंने पहले भी सामना के माध्‍यम अपना मत दिया है।

आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे इन दिनों अपने दिल्ली दौरे पर हैं और इस दौरे में प्रधानमंत्री मोदी से उनकी मुलाकात पहले से तय थी। उद्धव ने कहा, “पीएम मोदी से जीएसटी के विषय पर भी चर्चा हुई है। हम चाहते हैं कि केंद्र जीएसटी  का पैसा जल्दी राज्य सरकार को दे। उन्‍होंने कहा कि महाराष्ट्र में राज्यपाल और सरकार में कोई टकराव नहीं है। महाराष्ट्र में कॉमन मिनिमन प्रोग्राम के तहत सरकार चलेगी। उद्धव ने पत्रकारों से कहा कि नागरिकता कानून के आंदोलन कौन भड़का रहा है, ये आप जानते होंगे, मैं दिल्ली में नहीं रहता। हालांकि उन्‍होंने कहा कि नागरिकता कानून और एनपीआर के बारे में कांग्रेस से बात करेंगे।