Wednesday , November 30 2022

भारत में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित 28 केस, तीन हो चुके ठीक : डॉ हर्षवर्धन

ईरान में कोरोना वायरस की जांच के लिए लेबोरेटरी खोलने पर विचार कर रही सरकार
डॉ हर्षवर्धन सिंह

नयी दिल्‍ली/लखनऊ। चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस के कहर ने अब दुनिया भर के अनेक देशों को अपनी जद में ले लिया है। भारत में अब तक 28 लोगों को कोरोना वायरस होने की पुष्टि हुई है, इनमें केरल में तीन लोग उपचार के बाद स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। शेष 25 का इलाज चल रहा है, इनमें इटली से आये दल के 16 लोग और एक ड्राइवर कुल 17 लोग भी शामिल हैं। इसके अलावा भारत सरकार ईरान में कोरोना वायरस की जांच के लिए एक लेबोरेटरी स्‍थापित करने पर विचार कर रही है, जिससे कि भारत आने वाले नागरिकों का टेस्‍ट पहले ही ईरान में किया जा सके, तथा उस हिसाब से यहां भारत पहुंचने पर उन व्‍यक्तियो के लिए आवश्‍यक प्रबंध पहले से ही किये जा सकें।

यह बात बुधवार को आज एक प्रेस कॉन्‍फ्रेन्‍स में केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ हर्षवर्धन सिंह ने कही। उन्‍होंने बताया कि लैब स्‍थपित करने का फैसला ईरान सरकार की अनुमति पर निर्भर है। उन्‍होंने बताया कि सरकार इस मसले पर लगातार नजर रख आवश्‍यक कार्यवाही कर रही है, इसी के तहत यह फैसला किया गया है कि अब किसी भी देश से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जाएगी।

उन्होंने कहा कि हमारे तीन और वैज्ञानिक आज ईरान जा रहे हैं जबकि एक पहले से ही वहां मौजूद हैं। उन्होंने बताया कि जहां तक भारत में कोरोना वायरस को की जांच के लिए लैब की बात है तो वर्तमान में 15 लैबोरेट्री काम कर रही है जबकि 19 और नई लैबोरेट्री शुरू की जा रही है उन्होंने बताया की पुणे की एनआईबी लैब सबसे पुरानी होने के कारण नमूनों की जांच अंतिम रूप से वहीं कराई जाती है इसका अर्थ यह नहीं है कि दूसरी जांच लैब अच्छी नहीं हैं।