Wednesday , August 10 2022

प्रो. भट्ट ने कहा, वैज्ञानिक शोध बताते हैं कि विभिन्न रोगों से लड़ने में कारगर है योग

किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर 125 से अधिक चिकित्सा शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं ने कुलपति के साथ किया योग

लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 मदनलाल ब्रह्म भट्ट के साथ 125 से अधिक चिकित्सा शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं के साथ प्रयाग योग एकेडमी से आए हुए प्रतिभागियों द्वारा विभिन्न यौगिक क्रियाओं को किया गया। इस अवसर पर कुलपति ने कहा कि योग करने से हम विभिन्न प्रकार के मानसिक एवं शारीरिक परेशानियों से दूर रहते है।

प्रो. भट्ट ने कहा कि आज विश्व योग दिवस के अवसर पर सम्पूर्ण विश्व में लोग योग कर रहे है ये सम्पूर्ण भारत वर्ष के लिए गर्व की बात है कि हमारी प्राचीनतम परम्परा को आज सम्पूर्ण विश्व में मान्यता मिल रही है। योग विभिन्न प्रकार की बीमारीयों से लड़ने में कारगर है इस बात की वैज्ञानिक शोधों से पुष्टि भी हो चुकी है। उन्होंने कहा कि आज के दौर में युवा तमाम ऐसी समस्याएं जैसे मोटापा, अवसाद आदि से जूझ रहा है जिसे आत्म विश्वास तथा तन एवं मन के नियंत्रण से दूर किया जा सकता है।

प्रो0 विनोद जैन, अधिष्ठाता पैरामेडिकल संकाय ने कहा कि योग से व्यक्ति जहां शारीरिक एवं मानसिक बीमारियों से दूर रहता है उसके साथ ही साथ उसकी कार्यक्षमता भी बेहतर हो जाती है। लगातार काम का बढ़ता दबाव, बिगड़ती जीवनशैली तथा खान-पान की बदलती आदतो की वजह से युवाओं मे भी तमाम मानसिक एवं शारीरिक परेशानिया बढ़ रही जो धीरे-धीरे गंभीर बीमारियों में बदल जाती है। अतः ऐसी बीमारियों से बचने के लिए हमे योग को अपनाना होगा।

चिकित्सा विश्वविद्यालय के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो. एसएन संखवार ने कहा कि हमे यदि अपनेआप को स्वस्थ रखना है, समाज को स्वस्थ रखना है और देश को आगे बढ़ाना है तो योग करें। कार्यक्रम में प्रो0 संदीप तिवारी, विभागाध्यक्ष ट्राॅमा सर्जरी विभाग द्वारा अपने उद्बोधन में कहा गया कि यदि हमें स्वस्थ रहना है तो अपनी जीवन चर्या में योग को स्थान देना होगा। योग को किसी आस्था या पंथ से जोड़ना व्यर्थ है। योग स्वस्थ जीवन जीने का उपाय है।

आपको बता दें कि चिकित्सा विश्वविद्यालय के आउटरीच सेल द्वारा एक सप्ताह का योग प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया गया है। आरोग्य भारती अवध प्रांत के डाॅ0 अभय नरायण तिवारी ने कहा कि कुछ देर के योगाभ्यास से भी हमारा शरीर उर्जावान  हो जाता है। यदि हम इसका नियमित अभ्यास करें तो अपने आप को समाज को निरोग और उर्जावान बना सकते है और सशक्त राष्ट्र का निर्माण कर सकते हैं।

प्रातः 8:45 बजे किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के शताब्दी फेज-2 अस्पताल के आठवें तल स्थित सभागार में योग प्रदर्शन एवं प्रशिक्षण शिविर का आयोजन सोशल आउटरीच प्रोग्राम सेल, केजीएमयू,  आरोग्य भारती अवध प्रांत एवं नेशनल मेडिकोज आर्गनाइजेशन के संयुक्त तत्वावधान मे किया गया। इस कार्यक्रम में प्रयाग योग एकेडमी से प्रशांत, सोनाली, कुलदीप योग प्रशिक्षक एवं अन्य लोग उपस्थित रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 + 3 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.