Saturday , June 25 2022

कान और सुनने की देखभाल के बारे में आमजन में जागरूकता बढ़ाना हमारा उद्देश्‍य : कुलपति

-केजीएमयू में विश्‍व बधिर दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय के कुलपति कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ बिपिन पुरी ने कहा है कि हमारा उद्देश्य सामुदायिक स्तर पर कान और सुनने की देखभाल के बारे में आमजन में जागरूकता बढ़ाना है।

कुलपति ने यह विचार केजीएमयू के नाक, कान एवं गला विभाग द्वारा ‘वर्ल्ड हियरिंग डे ’के अवसर पर सेल्बी हॉल में जागरूकता कार्यकम में मुख्‍य अतिथि के रूप में सम्‍बोधित करते हुए व्‍यक्‍त किये। उन्‍होंने कहा कि मुझे ख़ुशी है की हेड एंड सर्जरी विभाग, डब्ल्यू एच ओ के साथ मिलकर इस दिन की मेजबानी कर रहा है, कुलपति ने कहा बधिरता नियंत्रण के क्षेत्र में चल रहे प्रयासों के लिए ई एन टी विभाग को बधाई देता हूं साथ ही उन्होंने यह यकीन भी जताया कि‍ आज आयोजित कार्यक्रम में आये मरीजों की जांच और उनके साथ की गयी बातचीत निश्चित रूप से प्रभावी होगी।

विशिष्‍ट अतिथि एस जी पी जी आई की न्यूरो सर्जन प्रो ईशा त्यागी ने बहरेपन और श्रवण हानि रोकने के लिए उससे सम्बंधित सावधानियों से अवगत कराया। आयोजक ईएनटी विभाग के विभागाध्‍यक्ष डॉ अनुपम मिश्र ने अपने सम्‍बोधन में कहा कि विश्व में लगभग 4.7 करोड़ लोग बधिरता से पीड़ित हैं। जिसमें से 3.5 करोड़ बच्चे हैं और यह संख्या वर्ष 2050 तक 90 करोड़ पहुंच सकती है, जिसमें यदि कान की समस्याओं को समय रहते निवारण किया जाये तो 60 प्रतिशत लोगों को बधिरता से बचाया जा सकता है।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ अखिलेन्द्र कुमार, डॉ वेद प्रकाश, संयुक्ता भाटिया एवं डॉ अंकुर उपस्थित रहे।