Friday , January 28 2022

कोरोना वायरस का इलाज करने वाले कर्मियों के लिए योगी ने दिये खास निर्देश

-एसजीपीजीआई के राजधानी कोविड हॉस्पिटल का निरीक्षण किया मुख्‍यमंत्री ने

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज एस0जी0 पी0जी0आई0 द्वारा तैयार किये गये राजधानी कोविड हॉस्पिटल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्‍होंने विशेष रूप से चिकित्‍सा कार्य में लगे चिकित्‍सा कर्मियों के क्‍वारेन्‍टाइन के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने इस बात पर विशेष बल दिया कि कोरोना उपचार से जुड़े सभी चिकित्सा कर्मियों के लिए ज़ीरो पर्सेंट इन्फेक्शन सुनिश्चित किया जाए। इसके लिए संक्रमण से बचाव सम्बन्धी सभी आवश्यक उपकरण एवं वस्त्र इन्हें उपलब्ध कराये जायें। इस मौके पर उनके साथ प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ रजनीश दुबे, एस0जी0पी0जी0आई0 के निदेशक प्रो0 आर0के0 धीमान सहित संस्थान के वरिष्ठ चिकित्सक उपस्थित थे।

देखें वीडियो-कोरोना पीडि़तों के लिए तैयार किये गये अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के अस्‍पताल का योगी ने लिया जायजा

मुख्यमंत्री ने आइसोलेशन कक्ष का निरीक्षण किया तथा चिकित्सालय में विभिन्न संसाधनों की उपलब्धता की जानकारी प्राप्त की। इस चिकित्सालय में अभी कोई मरीज भर्ती  नहीं है। वर्तमान में कोरोना के मरीजों का उपचार मेन कैम्पस स्थित 10 शय्यायुक्त आइसोलेटेड कोरोना फैसिलिटी में किया जा रहा है।

आपको बता दें कि राजधानी कोविड हॉस्पिटल में अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप 210 अत्याधुनिक बेड्स की सुविधा है। इसमें 80 व वेंटिलेटरयुक्त बेड्स का प्राविधान किया गया है। अब तक 25 वेंटिलेटर स्थापित हो गये हैं। कल तक 15 अन्य वेंटिलेटर भी स्थापित हो जायेंगे। इस प्रकार, इस चिकित्सालय में पहले चरण में 40 वेंटिलेटर उपलब्ध हो जायेंगे। शेष वेंटीलेटर की स्थापना भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप की जाएगी। इस संस्थान में चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ सहित 300 चिकित्सा कर्मियों की व्यवस्था है। इस संस्थान में कोरोना वायरस कोविड-19 के गम्भीर रोगियों के इलाज की व्‍यवस्‍था की जा रही है।