Sunday , January 23 2022

चुनिंदा अस्‍पतालों में 24 घंटे ओपीडी चलाने पर विचार, फार्मासिस्‍टों को मिलेगा दवा लिखने का अधिकार

विश्‍व फार्मासिस्‍ट दिवस पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने फार्मासिस्‍ट को बताया महत्‍वपूर्ण अंग

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। फार्मासिस्‍ट का कार्य बहुत महत्‍वपूर्ण है, दवाओं के रखरखाव से लेकर उसके वितरण तक की जिम्‍मेदारी का निर्वहन बहुत जिम्‍मेदारी का कार्य है, सरकार विचार कर रही है कि सभी पहलुओं को विचार करके कानून के दायरे में रहकर मरीजों को कुछ चुनी हुई दवाओं की सलाह देने के अधिकार फार्मासिस्‍ट को दिये जायें, ऐसा होने से मरीजों विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों को भारी राहत मिलेगी।

यह बात उत्‍तर प्रदेश के चिकित्‍सा स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने विश्‍व फार्मेसी दिवस के उपलक्ष्‍य में यहां गोमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्‍ठान में आयोजित कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि के रूप में सम्‍बोधित करते हुए कही। खचाखच भरे हुए हॉल को देखकर कार्यक्रम के भव्‍य आयोजन को लेकर मंत्री ने कहा कि ऐसा लगता है जैसे चुनाव के दौरान कोई राजनीतिक कार्यक्रम हो।

उन्‍होंने कहा फार्मासिस्‍ट का कार्य बहुत महत्‍वपूर्ण है, मैं वाराणसी सहित कई जगह मैं विभिन्‍न अस्‍पतालों में गया, इन सभी चिकित्‍सालयों में कोई और मिला हो या न मिला हो लेकिन फार्मासिस्‍ट हर जगह मिले, न सिर्फ मिले बल्कि जनता के साथ रूबरू होते हुए मिले। उन्‍होंने कहा कि फार्मासिस्‍ट का जनता के साथ अच्‍छा जुड़ाव होता है, जनता में उनका प्रभाव खासा है, जनता उनपर विश्‍वास करती है। जनता एक तरह से फार्मासिस्‍ट को डॉक्‍टर की तरह ही मानती है।

उन्‍होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए चिकित्सा सेवाओं में और वृद्धि किये जाने की जरूरत है, साथ ही बदलाव लाने की भी जरूरत है। इसके लिए सरकार की योजना है कि कुछ कैटेगरी के अस्‍पतालों में ओपीडी की सेवा 24 घंटे दी जाये। उन्‍होंने कहा कि मुझे बताया गया कि वर्तमान स्थिति में ही फार्मासिस्‍ट की कमी है और जब 24 घंटे की ओपीडी शुरू हो जायेगी तो ऐसी स्थिति में जाहिर है फार्मासिस्‍ट के और पद भी सृजित करने होंगे।

उन्‍होंने फार्मासिस्‍ट द्वारा रखी गयी मांगों पर कहा कि इन मांगों में कुछ पर अवश्‍य ध्‍यान दिया जायेगा। उन्‍होंने फार्मासिस्‍ट का आह्वान करते हुए कहा कि विभाग में बदलाव अवश्‍य लाऊंगा लेकिन इसके लिए आपके सहयोग की जरूरत है।

इस मौके पर चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य महानिदेशक डॉ पद्माकर सिंह, डॉ श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) के निदेशक डॉ डीएस नेगी, भीमराव अम्‍बेडकर विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रो संजय सिंह विशिष्‍ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। इनके अलावा डिप्‍लोमा फार्मासिस्‍ट एसोसिएशन के प्रदेश अध्‍यक्ष संदीप बडोला, वरिष्‍ठ उपाध्‍यक्ष उपेन्‍द्र प्रताप सिंह, उपाध्‍यक्ष राजेन्‍द्र सिंह पटेल, महामंत्री श्रवण सचान, संगठन मंत्री आरएस राना, संयुक्‍त मंत्री देवेन्‍द्र कटारा, कोषाध्‍यक्ष रजत यादव, सम्‍प्रेक्षक लक्ष्‍मी नारायण यादव उर्फ दीपक यादव समेत प्रदेश भर से आये बड़ी संख्‍या में फार्मासिस्‍ट उपस्थित रहे।