Saturday , April 13 2024

कांग्रेस विधायक ने भी अपनी पार्टी पर उठाये सवाल, मजदूरों के साथ यह कैसा क्रूर मजाक

-रायबरेली सदर की विधायक अदिति सिंह ने ट्वीट कर कहा, अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाईं

लखनऊ। प्रवासी मजदूरों को उत्‍तर प्रदेश में लाने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा बसों को उत्‍तर प्रदेश में लाने की पेशकश के बाद पैदा हुई स्थितियों से कांग्रेस खुद ही घिर गयी है, सरकार का समय नष्‍ट कर झूठी जानकारी देने के लिए जहां प्रियंका गांधी के निजी सचिव पर जहां एफआईआर लिखी गयी है वहीं कांग्रेस पार्टी के अंदर भी इसे लेकर नाराजगी सामने आयी है, कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने इस पर सवाल उठाये हैं।

प्रवासी मजदूरों की बस द्वारा अवाजाही के प्रकरण मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली सदर की विधायक अदिति सिंह ने ट्वीट करके कांग्रेस पर सवाल उठाए और कहा कि आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत, एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 ऑटो रिक्शा व एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई।”

एक अन्‍य ट्वीट में कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने लिखा कि कोटा में जब उत्‍तर प्रदेश के हजारों बच्चे फंसे थे तब कहां थीं ये तथाकथित बसें, तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बॉर्डर तक ना छोड़ पाईं, तब यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रातों-रात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया, उस समय खुद राजस्थान के मुख्‍यमंत्री ने भी इसकी तारीफ की थी।