Sunday , August 1 2021

दवा के सेवन और रखरखाव में इन बातों का अवश्‍य रखें ध्‍यान

विश्‍व हृदय दिवस पर चीफ फार्मासिस्‍ट ने दी महत्‍वपूर्ण जानकारियां

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। विश्व हृदय दिवस के अवसर पर हृदय को स्‍वस्‍थ रखने और हृदय रोगियों को स्‍वास्‍थ्‍य परामर्श दिये जा रहे हैं, इसी क्रम में चीफ फार्मासिस्‍ट सुनील यादव ने दवाओं के रखरखाव और सेवन से सम्‍बन्धित जानकारियां दी हैं।

सुनील यादव ने अपने संदेश में कहा है कि वर्ल्ड कार्डियोलॉजी फेडरेशन और डब्ल्यूएचओ द्वारा सितंबर माह के अंतिम रविवार को पूरे विश्व में हृदय रोगों के प्रति उचित जानकारी जागरूकता फैलाने के उद्देश्य मनाया जाता है,  उन्‍होंने कहा है कि इस अवसर पर एक फार्मेसी एक्सपर्ट, एक चीफ फार्मेसिस्ट होने के नाते लोगों से कुछ बातें शेयर करना चाहता हूं। उन्‍होंने कहा कि जो भी हृदय रोगी हैं जिन्हें हृदय से संबंधित औषधियां चल रही हैं, वे अपनी औषधियों को सुरक्षित स्थान पर रखें । सीधी धूप  औषधियों पर न पड़े, सीलन न हो जिससे औषधियां सुरक्षित रहे। उन्‍होंने कहा कि अपने चिकित्सक अथवा फार्मेसिस्ट के बताए गए निर्देशों का पालन जरूर करें।

सुनील यादव

उन्‍होंने कहा है कि लोगों को चाहिये कि वे अपनी औषधियां नियमित रूप से लें, एक सुझाव है कि अगर औषधियों को सुबह दोपहर शाम ले रहे हैं या सुबह-शाम ले रहे हैं तो अलग-अलग पैकिंग छोटे-छोटे डिब्बे बना लें जो सुबह की औषधियां हैं, उन्हें एक डिब्बे में रखकर उस पर सुबह का लेबल लगाएं जो शाम की औषधियां हैं उन्हें अन्य डिब्बे में रख कर उस पर शाम का लेबल लगाएं और अगर औषधियां तीन बार ले रहे हैं तो दोपहर का डिब्बा अलग बनाकर उस पर दोपहर का लेबल लगा देना चाहिये।

उन्‍होंने कहा है कि इसके साथ ही कुछ औषधियां ऐसी हैं जो खाली पेट ली जाती हैं अगर खाली पेट से ले रहे हैं तो उसकी पैकिंग अलग करें जिससे औषधियां कभी मिस नहीं होंगी, कभी संदेह भी नहीं रहेगा कि दवा ली है या नहीं। उन्‍होंने कहा है कि एक आवश्‍यक बात यह है कि औषधियां नियमित समय पर लेनी चाहिये जैसे कि आज सुबह की औषधि अगर आज 9:00 बजे ली है तो दूसरे दिन तीसरे दिन चौथे दिन यानी लगातार उसी समय पर औषधियां लेनी चाहिये, क्योंकि अगर औषधियों के टाइम में फेरबदल होता है तो औषधियों के प्रभाव पर असर आता है।

उन्‍होंने कहा कि आज से नवरात्रि शुरू हुई हैं, यह दो ऋतुओं का मिलन है ऐसे में जो हृदय रोगी हैं उनको बचाव भी करना है जिनकी औषधियां चल रही है वे डायरेक्ट कोल्ड के संपर्क में न आएं, धूल और धुएं से बचें, तनाव न लें, यह बहुत ही आवश्यक है। साथ ही ब्लड प्रेशर की नियमित रूप से जांच कराना बहुत आवश्यक है, जो डायबिटीज के रोगी हैं उनको डायबिटीज भी नियमित रूप से चेक करानी चाहिए। अगर शुगर का लेवल या ब्लड प्रेशर का लेवल घटता-बढ़ता है तो चिकित्सक से सलाह जरूर लें, नियमित व्यायाम और पैदल चलना हृदय रोगों से बचाव के लिए सबसे अच्छा माध्यम है इसलिए दिनचर्या को अनुशासित बनाएं और स्वस्थ रहने का प्रयास करें।

उन्‍होंने सभी के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हुए कार्डियोलॉजिस्ट और फार्मोकोलॉजिस्ट के साथ ही दवा के क्षेत्र में अनुसंधान में लगे वैज्ञानिकों को विश्‍व हृदय दिवस पर बधाई दी है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com