Thursday , June 30 2022

‘केजीएमयू गूंज’ के संचालन के लिए योगी आदित्‍यनाथ ने दी बधाई

-15 मई को पूरे हो रहे 100 दिन, मुख्‍यमंत्री ने कहा, केजीएमयू की एक और उपलब्धि


सेहत टाइम्‍स
लखनऊ।
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मंगलवार को किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय के कम्युनिटी रेडियो स्टेशन ‘केजीएमयू गूंज’ के संचालन पर बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि कम्युनिटी रेडियो स्टेशन ‘केजीएमयू गूंज’ का संचालन करके किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय ने अपने नाम एक और उपलब्धि अर्जित कर ली है। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि भारत का एक प्रतिष्ठित चिकित्सा संस्थान है। इस विश्वविद्यालय से बड़ी संख्या में ऐसे चिकित्सक निकले हैं, जो देश में ही नहीं, बल्कि दुनिया के विभिन्न देशों में भी अपनी प्रतिभा की बदौलत संस्थान का गौरव बढ़ा रहे हैं। एक शताब्दी से भी अधिक समय से यह चिकित्सा संस्थान प्रदेशवासियों सहित पड़ोसी राज्यों की जनता की चिकित्सा आवश्यकताओं की पूर्ति करता आ रहा है।

उन्‍होंने कहा कि मुझे खुशी है कि विश्वविद्यालय द्वारा इस उद्देश्य के साथ ‘केजीएमयू गूंज’ रेडियो स्टेशन संचालित किया जा रहा है। यह रेडियो स्टेशन निकट भविष्य में अपने सफल संचालन के 100 दिन पूर्ण करने जा रहा है। उन्‍होंने विश्वविद्यालय के कुलपति सहित रेडियो स्टेशन के संचालन से जुड़े सभी लोगों को बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व व मार्गदर्शन में केन्द्र और राज्य सरकार स्वच्छ, स्वस्थ एवं समर्थ भारत के निर्माण के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही हैं। इस उद्देश्य से हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर के सुदृढीकरण स्वच्छ भारत मिशन के तहत हर घर में शौचालय की सुविधा तथा जल जीवन मिशन के माध्यम से नागरिकों को शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की व्यवस्था की जा रही है। इसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं।

सीएम ने बताया कि पूर्वांचल क्षेत्र कई दशकों से इंसेफेलाइटिस जैसी बीमारी से प्रभावित रहा है। इस बीमारी से मासूम बच्चों की सर्वाधिक मृत्यु होती थी। स्वच्छ वातावरण शुद्ध पेयजल उपचार की बेहतर व्यवस्था और व्यापक जन-जागरूकता से प्रदेश सरकार को इस बीमारी पर प्रभावी नियंत्रण करने में सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इंसेफेलाइटिस के मामले तेजी से घटे हैं। इसके साथ ही इससे होने वाली मृत्यु में भी लगभग 95 प्रतिशत की कमी आयी है। प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य के दृष्टिगत स्वच्छता एवं स्वास्थ्य शिक्षा के प्रति जागरूकता आवश्यक है। रेडियो स्टेशन केजीएमयू गूंज द्वारा इस दिशा में किए जा रहे प्रयास सराहनीय हैं। मुझे विश्वास है कि ‘केजीएमयू गूंज’ द्वारा लोगों को जागरूक किए जाने का यह कार्य भविष्य में भी इसी प्रकार जारी रहेगा।

केजीएमयू गूंज के 100 दिन 15 मई को होंगे पूरे

ज्ञात हो यह भारत के‍ किसी भी चिकित्‍सा संस्‍थान की ओर से स्‍थापित होने वाला पहला रेडियो स्‍टेशन है। इस रेडियो स्‍टेशन की स्‍थापना का उद्देश्‍य चिकित्‍सा विशेषज्ञों की ओर से लोगों को स्‍वास्‍थ्‍य, योगा, ध्‍यान, स्‍वस्‍थ्‍य जीवन शैली, खानपान, रहन सहन, व्‍यायाम और कृषि मुद्दों पर रोचक तरीके से प्रमाणित जानकारी उपलब्‍ध कराना है। इसके साथ ही रेडियो की ओर दूसरे विषयों जैसे दुर्घटना से बचाव, कैंसर की रोकथाम, कुपोषण, पर्यावरण की सुरक्षा, महिला सशक्तिकरण, जनसंख्‍या नियंत्रण के साथ सरकारी योजनाओं का प्रसारण किया जाएगा। केजीएमयू गूंज के 100 दिन 15 मई को पूरे हो रहें हैं। इन 100 दिनों में अब तक 250 से अधिक अलग-अलग विषयों पर स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों द्वारा परिचर्चा की जा चुकी है, जिसमें महिला सशक्तिकरण, स्‍वच्‍छ जल संग्रह, पर्यावरण समेत दूसरे मुद्दों पर अनगिनत कार्यक्रमों को आयोजित किया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 − 4 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.