इन पद्धतियों से करायें इलाज, नहीं होगा साइड इफेक्ट

यूनानी और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति को बढ़ावा देने की अपील की राज्य सूचना आयुक्त ने

लखनऊ। यूनानी और आयुर्वेदिक पद्धति से रोगों का इलाज करवाना चाहिए इसमें कोई साइडइफेक्ट होने का खतरा नहीं है। सभी लोगों को इस कैम्प का लाभ उठाकर अपने रोगों का उपचार करवाना चाहिए।

यह बात राज्य सूचना आयुक्त हाफिज उस्मान ने डॉ0 अब्दुल अली तिब्बिया कॉलेज कटोली मलिहाबाद, लखनऊ के फ्री मेडिकल कैम्प में मुख्य अतिथि के रूप में कहा। उन्होंने कैम्प में गरीब और बेसहारा लोगों को मुफ्त दवा वितरित कीं तथा लोगों को यूनानी और आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज के लिए प्रेरित किया। कैम्प में उपस्थित सैकड़ों गणमान्य व्यक्तियों का मार्गदर्शन करते हुए, उन्हें सम्बोधित भी किया।

हाफिज उस्मान ने कैम्प को सम्बोधित करते हुए, कहा कि हमें प्रदेश में यूनानी और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति को बढ़ावा देना चाहिए, जिससे जरूरतमन्दों को इसका लाभ मिले, और इस पद्धति से मरीजों का बेहतर ढंग से इलाज हो सकेगा। हम अपने और अपने सम्बन्धियों (मरीजों) को यूनानी और आयुर्वेदिक मेडिसीन पद्धति से रोगों का इलाज करवाना चाहिए। हम सबको चाहिए कि हम अपने बच्चों को इस पद्धति से पढ़ाये, जब इस पद्धति से डॉक्टर ज्यादा संख्या में शिक्षित होकर कालेजों से शिक्षा प्राप्त कर निकलेंगे तो प्रदेश व देश में यूनानी और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति से जटिल से जटिल रोगों का ज्यादा से ज्यादा इलाज सम्भव हो सकेगा।
उन्होंने कहा कि खि़दमते ख़ल्क से बड़ी कोई सेवा नहीं, हर मजहब इंसानियत, मानव सेवा का संदेश देता है, उन्होंने आह्वान किया कि गरीब, बेसहारा, रोगियों की दिल से सेवा की जाये। कालेज व अस्पताल द्वारा असहाय रोगियों को बिना किसी भेदभाव के किये जा रहे, नि:शुल्क उपचार की जमकर प्रशंसा की और कहा कि फ्री मेडिकल कैम्प में आकर मैं बेहद गौरवान्वित महसूस कर रहा हॅू और मैंने देखा कि आम-जनता आज यूनानी और आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति पर ज्यादा भरोसा कर रही हैं, और अपने मरीजों के रोगों का यहॉ भारी संख्या में उपचार करवा रहे हैं। मुख्य अतिथि ने कालेज प्रबन्ध तंत्र की प्रशंसा करते हुए, रोगियों को सदैव अच्छी सेवा दिलाने का संकल्प दिलवाया।

तिब्बया कॉलेज कटोली मलिहाबाद, लखनऊ के डायरेक्टर (मैंनेजर) सैय्यद फख्रे आलम हसन ने हाफिज उस्मान का फूल-माला, व पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया। श्री हसन ने मुख्य अतिथि के कैम्प के आगमन पर उन्हें हार्दिक बधाई दी, और उनका आभार व्यक्त किया, तथा उन्हें मेडिकल कैम्प, हास्पिटल आदि का निरीक्षक कराया। इस मौके पर महिलाबाद के तहसीलदार, एसओ व अन्य अधिकारियों ने भी मुख्य अतिथि का स्वागत किया।
कैम्प में भारी संख्या में आम-नागरिक उपस्थित रहें जिसमें छात्र, अध्यापकगण प्रधानाचार्य डॉ0 सादिक, रजिस्ट्रार ओसाफ अकरम, स्वामी लक्ष्मी शंकराचार्य, मौलाना यूनुस नदवी, ए0आर0 आजाद, डॉ0 सीराज, डॉ0 रिजवान, डॉ0 मशर्रफ, मौलाना कमाल अख्तर, आरिफ शीश महली आदि अन्य गणमान्य व्यक्ति भारी संख्या में मौजूद रहे।

साथ ही एक अन्य कार्यक्रम काकोरी लखनऊ में राज्य सूचना आयुक्त हाफिज उस्मान का भव्य स्वागत किया गया। देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर शहीदों की पहचान के लिए काकोरी काण्ड के नाम से विश्वविख्यात है। देश के वीर जवानों ने अपने प्राणों की आहुति देकर हिन्दुस्तान को स्वतंत्र कराया, उन लाखों नौजवन क्रान्तिकारियों की बदौलत आज हमारा मुल्क आजाद हुआ। बड़े खुशनसीब हैं, वो लोग जो देश हित में कुर्बान हुए। देश के गांवों, नगरों, कालेजों, सरकारी दफ्तरों आदि में देश को स्वतंत्र कराने वाले वीरों की कुर्बानी को याद किया जाता है, और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है। मैं भी यहॉ काकोरी में आकार अपने-आपको गौरवान्वित महसूस कर रहा हॅू।