केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर पहुंचे मरीज का इलाज अब नहीं रुकेगा पैसे के अभाव में, फ्री होगा इलाज

बड़ी राहत देने जा रहा है केजीएमयू, मई से ट्रॉमा सेंटर में इलाज अब पूरी तरह फ्री

लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू ) के कुलपति प्रोफेसर एमएलबी भट्ट का 1 साल का कार्यकाल पूरा हो गया है। साल भर के कार्यकाल के बाद कुलपति अब यहां ट्रॉमा सेंटर में आने वाले मरीजों को बड़ा तोहफा देने जा रहे हैं मई के महीने से यहां आने वाले मरीजों का इलाज पूरी तरह से फ्री किया जाएगा।

मरीजों को दवाओं से लेकर इंप्लांट्स तक लेकर इंप्लांट्स तक के लिए कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा। कुलपति ने कहा कि 1 साल तक मैंने सीखा, अब काम करने का समय है उन्होंने बताया ट्रामा सेंटर में रोज करीब 600 मरीज आते हैं इनमें से ज्यादातर किसी ना किसी दुर्घटना में घायल होकर इलाज के लिए आते हैं।

 

उन्होंने बताया की सबसे बड़ी समस्या तब होती है जब उस समय मरीज के पास इलाज के लिए पैसे नहीं होते हैं, जिससे उसके इलाज में बाधा पहुंचती है। लेकिन अब इस नई व्यवस्था से मरीज और उनके परिजनों को इलाज कराने में कोई बाधा नहीं आएगी। इस खर्च की पूर्ति के लिए उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन और उत्तर प्रदेश सरकार दोनों से 25-25 करोड़ रुपए के बजट के लिए प्रस्ताव भेजा गया है उन्होंने कहा उन्हें पूरी आशा है कि उन्हें यह यह धनराशि मिल जाएगी।