जो अस्‍पताल नहीं जा सकते उनके घर अस्‍पताल आया है : महापौर

रज्जू भैय्या के जन्मदिवस के मौके पर चिकित्‍सा शिविर का आयोजन

चिकित्सा शिविर में 700 मरीजों का हुआ पंजीकरण 

 

लखनऊ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के चतुर्थ सरसंघचालक प्रो. राजेन्द्र सिंह रज्जू भैय्या के जन्मदिवस के मौके पर मंगलवार को बालू अड्डा में चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। चिकित्सा शिविर का उद्घाटन लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया और मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. नरेन्द्र अग्रवाल ने दीप प्रज्‍ज्‍वलन कर किया।

 

इस मौके पर महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि रज्जू भैय्या बहुत बड़े वैज्ञानिक थे। वे विश्वविद्यालय में प्रोफेसर की नौकरी और विभागाध्यक्ष का पद छोड़कर संघ में आये और प्रचारक बने। रज्जू भैय्या ने अपना पूरा जीवन समाज के लिए लगा दिया। उनका जीवन समाज के लिए प्रेरणादायी है। महापौर ने कहा कि उनके जन्मदिवस पर चिकित्सा शिविर का आयोजन ऐसे लोगों के लिए किया गया है, जो अस्पताल जाकर दवा नहीं ले सकते ऐसे लोगों के लिए स्वास्थ्य विभाग उनके दरवाजे चलकर आया है।

स्‍वाइन फ्लू से डरने की जरूरत नहीं : सीएमओ

 

लखनऊ के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. नरेन्द्र अग्रवाल ने स्वाइन फ्लू से सावधानी के बारे में भी लोगों को जागरूक किया। उन्होंने कहा कि इससे डरने की जरूरत नहीं है।

 

 

बृजनन्दन ने कहा कि विश्व में हिन्दुत्व का परचम लहराने वाले अशोक सिंघल को रज्जू भैय्या ही संघ की शाखा में लेकर गये। पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह, चन्द्रशेखर व पीवी नरसिंहाराव भी उन्हें अपना आदर्श मानते थे।

 

 

चिकित्सा शिविर में करीब 700 मरीजों का पंजीकरण कर चेकअप किया गया और दवाएं बांटी गयीं। चिकित्सा शिविर में एलोपैथिक व आयुर्वेदिक अलग-अलग काउंटर लगे थे। शिविर में नेत्र रोग, स्त्री रोग, ह्रदय रोग, नाक-कान गला रोग के मरीजों का उपचार भी किया गया। तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ की तरफ से डॉ. मयंक ने लोगों को तम्बाकू के नुकसान के बारे में जागरूक किया।