केजीएमयू में सिखाये जाने वाले ए टी एल एस कोर्स में इस बार 18 प्रशिक्षार्थी नेपाल के

दिल्ली के संस्थानों के स्थान पर कर रहे KGMU का चुनाव

लखनऊ। केजीएमयू के लिए यह गर्व का विषय है कि यहां पर डॉक्टर, नर्सेज, पैरामेडिकल स्टाफ को दी जाने वाली स्किल इंस्टीट्यूट में ए टी एल एस एडवांस ट्रॉमा लाइफ सपोर्ट कोर्स का वैश्वीकरण हो रहा है । इंस्टीट्यूट में आज से 12 वां कोर्स प्रारंभ हुआ।

 

यह जानकारी देते हुए इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉक्टर विनोद जैन ने बताया कि इस बार जो 24 प्रतिभागी भाग ले रहे हैं उनमें 18 नेपाल के हैं तथा एक केरल से, एक अलीगढ़ से तथा 4 लखनऊ के प्रशिक्षणार्थी शामिल हैं।

डॉक्टर जैन ने बताया कि केजीएमयू के लिए यह गर्व का विषय है की इस कोर्स को करने के लिए विदेश के लोग नई दिल्ली में एम्स जैसे संस्थान छोड़कर केजीएमयू को वरीयता दे रहे हैं।

 

ज्ञात हो नर्सों और पैरामेडिकल स्टाफ को ज्यादातर यह ट्रेनिंग दी जा रही है इसके अलावा कई डॉक्टरों को भी इमरजेंसी के समय ट्रॉमा की स्थिति में किस तरह निपटा जाए, यह सिखाया गया है। हालांकि इसमें बाद में किसी भी व्यक्ति को यह ट्रेनिंग देने की योजना है क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि व्यक्ति की सड़क पर दुर्घटना होने के बाद उसे अस्पताल तक पहुंचाने में क्या-क्या सावधानियां बरती जानी चाहिए इसके बारे में सटीक ज्ञान मनुष्य का जीवन बचा सकता है।