सूर्य नमस्कार और नमाज की क्रियाएं एक जैसी : योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूर्य नमस्कार और नमाज पढऩे की क्रिया को एक सा बताते हुए कहा हैं कि हम सूर्य नमस्कार करते हैं और मुस्लिम भाई नमाज पढ़ते हैं। सूर्य नमस्कार और नमाज की कई क्रियाएं मिलती-जुलती हैं, ऐसे में इसमें साम्प्रदायिक दृष्टिकोण से अंतर करना ठीक नहीं है। मुख्यमंत्री ने यह बात आज यहां इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित उत्तर प्रदेश योग महोत्सव में कही। लखनऊ में मुख्यमंत्री का यह पहला सार्वजनिक कार्यक्रम था। इस कार्यक्रम में योग गुरु रामदेव भी हिस्सा लेने आये हैं।

योग महोत्सव में पहुंचे मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में यह भी खुलासा किया कि किस तरह उनको मुख्यमंत्री बनाने की जानकारी एक दिन पहले ही दी गयी। खुद को मुख्यमंत्री पद दिये जाने को लेकर उन्होंने कहा कि लोग साधु को भीख तक नहीं देना चाहते लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुझे उत्तर प्रदेश सौंप दिया। उन्होंने योग को अंतरराष्ट्रीय मान्यता दिलाने में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भूमिका की जमकर सराहना की।

उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जब मुझे दिल्ली बुलाकर कहा कि आपको यूपी जाना है तो मैंने कहा कि वहीं से तो आ रहा हूं। इस पर उन्होंने कहा कि आपको कल मुख्यमंत्री पद की शपथ लेनी है। उन्होंने बताया कि जिस समय उन्होंने यह बात कही, मेरे पास एक ही जोड़े कपड़े थे लेकिन मैंने सोचा कि साधु के लिए कपड़े का क्या मतलब, लंगोट भी पहनकर निकलूंगा तो लोग यही तो कहेंगे कि यह तो साधु का बाना है।

मोदी की जमकर सराहना की

प्रधानमंत्री की जमकर तारीफ करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिम्मेदारियों से पलायन ठीक नहीं है। प्रधानमंत्री से यह सीख मिली है कि सकारात्मक सोच से सभी चुनौतियों का समाधान मिल जाता है। वर्ष 2014 में जब उन्होंने देश की बागडोर संभाली तो देश में निराशा, अविश्वास और अराजकता का माहौल था। सिर्फ  तीन वर्षों में उन्होंने देश को दुनिया की महाशक्ति के तौर पर स्थापित कर दिया। नोटबंदी का उनका फैसला दुनिया के सामने कौतूहल की तरह था। आज उसका उत्साहजनक परिणाम देकर सभी हतप्रभ हैं।

बड़े निर्णय लेने से भी हिचकूंगा नहीं

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मैंने मठ-मंदिरों में भिक्षा मांगी है। सडक़ों पर आंदोलन किया है। यूपी की सभी बीमारियां जानता हूं। एक हफ्ते में अभी कुछ छोटे-छोटे निर्णय लिए गए हैं, लेकिन आने वाले दिनों में हम बड़े निर्णय लेने से भी नहीं हिचकेंगे।

बाबा रामदेव ने भी की योगी की तारीफ

योगगुरु बाबा रामदेव ने मुख्यमंत्री की प्रशंसा करते हुए कहा कि योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री के रूप में महज 7 दिनों में जो फैसले लिए हैं, वे इतिहास रचने वाले हैं। लोग मुझसे पूछ रहे हैं कि अवैध बूचडख़ाने बंद कराए जा रहे हैं, इस पर क्या प्रतिक्रिया है? मैंने कहा जब वो अवैध हैं ही क्या कहना है, अवैध चलना अपराध था। बंद कराना तो कानून का पालन करना है। उन्होंने कहा कि यूपी में शराबबंदी भी होने वाली है। उन्होंने यह भी जोड़ा कि शराब की आदत छुड़ाने के लिए कपालभाति का अभ्यास पहले से ही शुरू कर देना चाहिये।