मार्क्सवादी गुण्डों की हिंसा के सामने झुकेगा नहीं संघ : जे. नन्दकुमार

केरल में संघ कार्यकर्ताओं का हत्या करने का कम्युनिस्टों पर आरोप लगाया

लखनऊ। प्रज्ञा प्रवाह के राष्ट्रीय संयोजक जे. नन्द कुमार ने कहा है कि केरल में मार्क्सवादी गुण्डों की हिंसा के सामने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ झुकने वाला नहीं है। केरल के संघ कार्यकर्ता उनको माकूल जवाब देने के लिए तैयार हैं।
वह मंगलवार को लखनऊ विश्वविद्यालय मालवीय सभागार में प्रज्ञा प्रवाह द्वारा आयोजित ‘केरल में मार्क्सवादी हिंसा’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। जे. नन्दकुमार ने कहा कि उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि केरल में राजनीतिक जमीन खिसकती देखकर मार्क्सवादी लोग हिंसा पर उतारू हो गये हैं। वह केरल में संघ कार्यकर्ताओं को निशाना बनाकर योजनाबद्ध ढंग से हत्या कर रहे हैं। केरल सरकार और पुलिस प्रशासन भी मार्क्सवादी गुण्डों को संरक्षण देती है। वहां के मुख्यमंत्री पर भी हिंसा का आरोप है।

उन्होंने कहा कि केरल के पत्रकार भी वामपंथी हिंसा पर चुप हैं। कम्युनिस्टों का प्रजातंत्र में विश्वास नहीं है। केरल में संघ का बढ़ता प्रभाव मार्क्सवादी नेताओं को पच नहीं रहा है। इसलिए तुष्टीकरण का जघन्य प्रयोग कर संघ कार्यकर्ताओं की हत्या कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कम्युनिस्टों ने इतिहास को विकृत करने का भी काम किया है।

उन्होंने कहा कि मुस्लिमों को खुश करने के लिए कर मार्क्सवादी गुण्डे संघ कार्यकर्ताओं की हिंसा कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि केरल में 26 प्रतिशत आबादी मुसलमानों की है। वहां तीसरे नम्बर की पार्टी मुस्लिम लीग है। इसलिए वह मुसलमानों को अपने पाले में करने के लिए तुष्टीकरण का सहारा ले रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कम्युनिस्टों ने केरल में सबसे पहला हमला सन 1948 में तत्कालीन सरसंघचालक माधवराव सदाशिवराव गोलवलकर गुरूजी के कार्यक्रम के दौरान किया था। कम्युनिस्टों ने गुरू जी को निशाना बनाया था। इसी प्रकार इस बार 15 अगस्त को केरल में ध्वजारोहण के दौरान सरसंघचालक मोहनराव भागवत के कार्यक्रम पर हमले की फिराक में थे।

उन्होंने कहा कि वह इस तरह पागल हैं कि वह बच्चों, महिलाओं, पशुओं और यहां तक की उनकी खेती को भी नहीं छोड़ते हैं। केरल में कम्युनिस्टों ने 250 स्वयंसेवकों की हत्या की है। 350 स्वयंसेवक उनके हमलों में अपंग हो चुके हैं और 450 स्वयंसेवक जेल में हैं। इसके अलावा कन्नूर जिले में एक हजार परिवारों के घर चलाने की जिम्मेदारी वहां के स्वयंसेवक उठा रहे हैं।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र कार्यवाह रामकुमार वर्मा भी उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.सी.सोबती ने की।

इस मौके पर क्षेत्र प्रचार प्रमुख राजेन्द्र सक्सेना,संघ के सह प्रान्त प्रचारक रमेश, सह प्रान्त कार्यवाह नरेन्द्र सिंह, लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एसपी सिंह, संघ के प्रचारक गंगा सिंह, केजीएमयू के प्रो. डॉ.सूर्यकान्त, डा.सुमित रूंगटा और डा.विश्वजीत सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित थे।