प्रो. दिव्या मेहरोत्रा को रॉयल कॉलेज ऑफ फिजीशियनंस एंड सर्जन्स ऑफ ग्लैस्गो की ऑनरेरी फेलोशिप

डॉ दिव्या मेहरोत्रा

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय केजीएमयू के ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल विभाग की प्रोफेसर और दंत संकाय की वाइस डीन डॉ दिव्या मेहरोत्रा को रॉयल कॉलेज ऑफ फिजीशियनंस एंड सर्जन्स ऑफ ग्लैस्गो की ऑनरेरी फेलोशिप के लिए चुना गया है। डॉ दिव्या मेहरोत्रा संभवत: भारत में पहली महिला मैक्सिलोफेशियल सर्जन हैं जिन्हें इस सम्मान से नवाजा गया है।
49 वर्षीया डॉ दिव्या ने केजीएमयू से ही अपनी बीडीएस की डिग्री ली थी तथा उन्हें कई विषयों में विशेष योग्यता प्राप्त की थी। डॉ दिव्या ने केजीएमयू से ही ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल सर्जरी में अपनी परास्नातक की डिग्री प्राप्त की। डॉ दिव्या मेहरोत्रा को देश और विदेशों में अनेक बार विभिन्न प्रकार के सम्मानों से नवाजा जा चुका है।