Thursday , December 1 2022

पूर्वजों को श्रद्धा देने तथा उनसे आशीर्वाद पाने का अवसर है पितृ पक्ष

-गायत्री ज्ञान मंदिर में सामूहिक पिण्‍ड तर्पण प्रारम्‍भ, 6 अक्‍टूबर तक चलेगा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो    

लखनऊ। इन्दिरा नगर सेक्टर-9 स्थित गायत्री ज्ञान मंदिर में प्रतिवर्ष की भांति पितृपक्ष के अवसर पर आज 20 सितम्बर से सामूहिक पिण्ड तर्पण प्रारम्भ हुआ यह तर्पण 6 अक्टूबर तक प्रतिदिन चलेगा।

कार्यक्रम के मुख्य संयोजक उमानंद शर्मा ने बताया किया आज प्रातः 5 बजे से देव आवाहन, देवपूजन के उपरान्त पिण्ड तर्पण प्रारम्भ हुआ, पिण्ड तर्पण के उपरान्त गायत्री यज्ञ में लोक कल्याण के लिए गायत्री मंत्र, नवग्रह मंत्र, महामृत्युजंय मंत्रों के उच्‍चारण से पूर्वजों की एवं विश्व में कोरोना से मृतकों की आत्माओं तथा शहीदों के लिए मृत्यु के देवता यम को आहूतियों देकर उनके आत्मोन्न्ति के लिए प्रार्थना की गयी।

श्री शर्मा ने बताया ऋषियों द्वारा वर्णित साहित्य में उल्लेख है कि पितरों को श्रद्धा दें वे शक्ति देगें, यह अवसर पूर्वजों को श्रद्धा देने तथा उनसे आशीर्वाद पाने का अवसर है। इसमें अनिवार्य रूप से भागीदारी करना चाहिये।

श्री शर्मा ने बताया कि तर्पण के सभागार में युग ऋषि द्वारा रचित धर्म एवं अध्यात्म, वैज्ञानिक विश्लेषण के साथ जीवन मृत्यु एवं आत्मा पर आधारित साहित्य जैसे- मैं क्या हूँ?, गहना कर्मागति, मरने के बाद हमारा क्या होता, पितरों को श्रद्धा दें वे शक्ति देंगे, पितर हमारे अदृश्य सहायक, मरणोत्तर जीवन उसकी सच्चाई, जीवन एवं मृत्यु, भूत कैसे होते हैं क्या करते हैं?, स्वर्ग-नर्क की स्वचालित प्रक्रिया, मरे तो सही बुद्धिमता के साथ, जल्दी मरने की उतावली न करें उपरोक्त पुस्तकें सभागार में अवलोकन हेतु प्रदर्शित रहेंगी क्रय करके लिया भी जा सकता है।

आज के कार्यक्रम में माँ भगवती ग्रुप एजुकेशन इंस्टीट्यूशन के चेयरमैन श्री राजेश यादव, उ.प्र. शासन के वरिष्ठ अधिकारी श्री आर.के.उदयन, क्षेत्र के श्री शिशिर दीक्षित, श्री सौरभ सिंह, श्रीमती ऊषा सिंह, पूनम शर्मा सहित क्षेत्र के इत्यादि लोगों ने भाग लिया। श्री शर्मा ने बताया कि पिण्ड तर्पण में नर-नारी जातिवंश का भेद नहीं होगा, सभी भागीदारी कर सकते हैं। कार्यक्रम भाग लेने के लिए एक दिन पूर्व पंजीयन करना अनिवार्य होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty − 13 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.