Tuesday , May 17 2022

शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक के अस्‍पतालों में दवा के लिए भटके मरीज

-कार्यबहिष्‍कार के तीसरे दिन आंदोलनकारी फार्मासिस्‍टों ने निकाली रैली

-फार्मासिस्‍टों के आंदोलन के तहत दो घंटे कार्य बहिष्‍कार जारी

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ लम्‍बे समय से लम्बित मांगों को पूरा न किये जाने के विरोध में डिप्‍लोमा फार्मासिस्‍ट एसोसिएशन (डीपीए) द्वारा किये जा रहे आंदोलन के क्रम में सरकारी अस्‍पतालों में फार्मेसिस्टों द्वारा किये जा रहे दो घंटे कार्यबहिष्‍कार के तीसरे दिन आज सिविल अस्पताल लखनऊ में रैली निकालकर जोरदार प्रदर्शन किया गया। बहिष्‍कार के दौरान दो घंटे मरीजों को दवा आदि न मिलने से परेशानी का सामना करना पड़ा।

डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष सुनील यादव के नेतृत्व में हुए प्रदर्शन में आये हुए फार्मेसिस्टों को सिविल अस्पताल के प्रभारी अधिकारी एच एन चौधरी, जनपद अध्यक्ष अरुण अवस्थी, जी सी दुबे, अजय मिश्रा, माशूक खान, पंकज रस्तोगी,  सुमन श्रीवास्तव, अलका, प्रतिमा, अंजुम सिंह, एम पी चौधरी, सुधीर, रजनीश पांडेय, सलिल श्रीवास्तव आदि ने संबोधित किया ।

संघ के संरक्षक के के सचान ने आज प्रांतीय समीक्षा के उपरांत बताया कि प्रदेश के सभी जनपदों के हर चिकित्सालय में कार्यबहिष्कार हुआ। आज प्रांतीय अध्यक्ष संदीप बडोला ने मुरादाबाद जनपद के चिकित्सालयों में भ्रमण किया। महामंत्री उमेश मिश्रा ने कहा कि अभी तक शासन की तरफ से कोई सकारात्मक संदेश नहीं प्राप्त हुए इसलिए संघ आंदोलन को विवश है। 20 से अनिश्चितकालीन हड़ताल के लिए संघ के सदस्य तैयार हैं।

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष संदीप बडोला ने कहा सरकार फार्मेसिस्ट की समस्याओं को नजरअंदाज कर रही हैं। शासन में बैठे अधिकारी मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद भी कर्मचारियों की समस्याओं का निराकरण नहीं कर रहे हैं एवं न ही संगठनों से वार्ता की जा रही है। उन्होंने कहा कि फार्मेसिस्टों की अनेकों मांगे जनहित से जुड़ी हुई हैं व गैर वित्तीय मांगें हैं लेकिन उच्च अधिकारियों की उदासीनता के कारण फार्मेसिस्ट संवर्ग में अत्यंत रोष व्याप्त है। वेतन विसंगति, पदनाम परिवर्तन, पदों के मानकों में संशोधन, प्रभार भत्ते में संशोधन, नुस्खा लिखने का अधिकार देने आदि मांगों में स्वास्थ्य मंत्री के सकारात्मक दृष्टिकोण के बाद भी शासन स्तर पर कार्यवाही नहीं हो रही है, जिस कारण मजबूर होकर फार्मेसिस्टों को औषधि वितरण, इंजेक्शन आदि कार्य को 2 घंटे बाधित करना पड़ रहा है।

सुनील यादव ने कहा कि शासन की उदासीनता के कारण डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन उत्तर प्रदेश को आंदोलन का रास्ता अख्तियार करना पड़ा। उन्होंने कहा कि‍ 16 दिसंबर तक प्रदेश के फार्मेसिस्ट 2 घंटे कार्य बहिष्कार करेंगे एवं 17 दिसंबर से प्रदेश के फार्मेसिस्ट संवर्ग के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे एवं 20 दिसंबर से पोस्टमॉर्टम व इमरजेंसी सेवाएं भी बंद कर देंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री से अपील की कि फार्मेसिस्टों की समस्याओं को संज्ञान में लेकर संबंधित अधिकारियों को तत्काल शासनादेश निर्गत करने के लिए निर्देशित करने की कृपा करें अन्यथा की दशा में फार्मेसिस्टों की हड़ताल के कारण जनता को होने वाली असुविधा की जिम्मेदारी शासन एवं प्रशासन की होगी।

वहीं लखनऊ शाखा की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार बलरामपुर अस्पताल में प्रदेश संरक्षक के के सचान व प्रदेश महामंत्री उमेश मिश्रा के नेतृत्व में 11 दिसम्‍बर को पूर्व महामंत्री श्रवण सचान, प्रान्तीय कोषाध्यक्ष अजय पाण्डे, पूर्व प्रान्तीय कोषाध्यक्ष रजत यादव, सुभाष श्रीवास्तव, संजय कनौजिया, संयुक्त मंत्री विवेक श्रीवास्तव,  संप्रेक्षक जितेंद्र कुमार, पंकज रस्तोगी, निशा तिवारी, मंजुलता, सुनीता सचान, संगीता वर्मा, सुनीता यादव, महेंद्र यादव, अब्दुल रहमान, निशा तिवारी, आर पी सिंह, दयाशंकर त्यागी,  डी के श्रीवास्तव व अन्य सभी साथियों ने सुबह 8 बजे से 10 बजे तक 2 घंटे के कार्यबहिष्कार की कमान संभाली।

डी पी ए जनपद लखनऊ कार्यकारी अध्यक्ष कपिल वर्मा व संगठन मंत्री अविनाश सिंह के नेतृत्व में सी एच सी गोसाईं गंज में हनुमान प्रसाद वर्मा, अकील अंसारी, आर बी मौर्या, राम सुमित्र पटेल, अखिलेश ओझा, अतुल श्रीवास्तव, कन्हैयालाल व जनपद लखनऊ कोषाध्यक्ष चंद्रशेखर श्रीवास्तव ने जोरदार प्रदर्शन व 2 घण्टे कार्य बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन किया।

सिविल अस्पताल में डी पी ए जनपद लखनऊ अध्यक्ष अरुण अवस्थी के नेतृत्व में डी पी ए उत्तर प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष सुनील यादव, रजनीश पांडेय, जी सी दुबे, ओ पी पटेल, श्रवण चौधरी,  सलिल श्रीवास्तव,  पंकज श्रीवास्तव, सुधाकर शर्मा, रंजीत गुप्ता आदि साथियों ने कमान संभाली।

देखें वीडियो डॉ श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) अस्‍पताल में फार्मासिस्‍टों ने 11 दिसम्‍बर को रैली निकालकर किया प्रदर्शन

लोकबंधु अस्पताल में सी एल शांति के नेतृत्व में मोहम्मद अजमल,सरोज सिंह,संजुलता श्रीवास्तव, गिरिजेश यादव, प्रतिभा पटेल, मलिहाबाद सी एच सी से राजेश वरुण के नेतृत्व में नीलम वर्मा, सी एच सी सरोजनी नगर में जनपद लखनऊ वरिष्ठ उपाध्यक्ष आर बी मौर्या के नेतृत्व में राजेश गौतम, सुनील मिश्रा, कमलकांत वर्मा, अनिल त्रिपाठी, सी एच सी मोहनलालगंज से अनिल सचान के नेतृत्व में अरविंद वर्मा, अनीता अवस्थी, विकास शर्मा, रविन्द्र परिहार, आनंद कुशवाहा, सी एच सी गुडंबा से डी पी ए लखनऊ मंत्री अखिल सिंह के नेतृत्व में सभी फार्मासिस्टों ने जोरदार प्रदर्शन किया।

डफरिन से जसवंत सिंह के नेतृत्व में, अरविंद तिवारी, पवन शर्मा टी बी अस्पताल से रामेंद्र सिंह, राजेश कोहली, कल्पना सचान, जितेंद्र कुमार पटेल सहित सभी फार्मासिस्ट/चीफ फार्मासिस्ट साथियों ने कमान संभाली।

साथ ही जनपद लखनऊ के सभी सामुदायिक स्वास्‍थ्‍य केंद्रों व प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्रों पर तैनात सभी फार्मासिस्ट/चीफ फार्मासिस्ट साथियों द्वारा 2 घंटे का कार्य बहिष्कार करते हुए जमकर नारेबाजी करते हुए सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

इसके अतिरिक्‍त डी पी ए जनपद शाखा लखनऊ के कार्यकारी अध्यक्ष कपिल वर्मा द्वारा संवर्ग के सभी फार्मेसिस्ट/चीफ फार्मासिस्ट साथियों द्वारा आंदोलन के आठवें दिन भी भारी संख्या में अपने अपने कार्यस्थल पर 2 घंटे का कार्य बहिष्कार करते हुए अपना विरोध दर्ज कराने के लिए सभी साथियों का आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 − six =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.