Sunday , November 27 2022

कोविड के बाद श्‍वास व मानसिक परेशानियों से जूझ रहे मरीजों का होगा विशेष इलाज

-ऐलोपैथी व योग-नेचुरोपैथी से उपचार पर शोध करेंगे विशेषज्ञ

-फ्री में होगा इलाज, इच्‍छुक मरीज 22 नवम्‍बर से करा सकते हैं पंजीकरण

सेहत टाइम्‍स  

लखनऊ। बलरामपुर चिकित्सालय, लखनऊ एवं किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ की विशेषज्ञ टीम द्वारा पोस्ट कोविड मरीजों का जो कोविड संक्रमण के बाद से श्‍वास और विभिन्‍न प्रकार की मानसिक परेशानियों से जूझ रहे हैं, के एलोपैथिक तथा योग-नेचुरोपैथी से उपचार पर एक शोध प्रारम्‍भ हो रहा है, इसके तहत इलाज कराने वाले मरीजों का केजीएमयू, बलरामपुर चिकित्‍सालय व केन्द्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद के विशेषज्ञों द्वारा पूरी तरह फ्री में इलाज किया जायेगा। शोध के तहत इलाज कराने वाले इच्‍छुक मरीजों के पंजीकरण कल 22 नवम्‍बर से शुरू हो रहे हैं।  

यह जानकारी देते हुए बलरामपुर चिकित्‍सालय के निदेशक डॉ रमेश गोयल द्वारा बताया गया है कि जो व्‍यक्ति कोविड संक्रमण के बाद से अभी तक श्वास की तकलीफ और मानसिक रोग घबराहट, बेचैनी, क्रोध, मानसिक तनाव, डिप्रेशन, अनिद्रा व कमजोर इम्यूनिटी से पीड़ित हैं और उन मरीजों का भी जो पूर्व से अस्थमा, एलर्जिक राइनाइटिस एवं सीओपीडी के मरीज रहे हैं और कोविड के संक्रमण से पीड़ित होने के बाद उनकी तकलीफें पूर्व की दवाओं से नियंत्रित नहीं हो पा रही हैं, का इस शोध परियोजना के अन्तर्गत विशेष जांच व योगिक उपचार एवं एलोपैथी उपचार बलरामपुर चिकित्सालय में निःशुल्क किया जायेगा। इस शोध परियोजना में 18 से 70 वर्ष तक के महिला / पुरुष रजिस्ट्रेशन कराकर स्वास्थ्य लाभ ले सकेगें। रजिस्ट्रेशन कल 22 नवम्बर, 2022 से प्रातः 9 से 1 बजे तक बलरामपुर चिकित्सालय के आयुष विभाग में किया जायेगा।

यह जानकारी देते हुए बलरामपुर चिकित्‍सालय के निदेशक डॉ रमेश गोयल द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि शोध में बलरामपुर चिकित्सालय के पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ आनन्द कुमार गुप्ता, योग विशेषज्ञ डॉ नन्दलाल यादव तथा किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के रेस्पाइरेट्री विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो सूर्यकान्त व असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ अंकित कुमार कटारिया, केजीएमयू के ही डिपार्टमेन्ट ऑफ कम्युनिटी मेडिसिन एण्ड पब्लिक हेल्थ के असिस्टेन्ट प्रोफेसर डॉ राजीव मिश्रा, वैदिक योग-प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान (रजिस्टर्ड) के रेजिडेन्ट मेडिकल ऑफिसर डॉ सुनील सिंह यादव, केन्द्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आयुष मंत्रालय, भारत सरकार) के पूर्व सहायक निदेशक (नेचुरोपैथी) डॉ राजीव रस्तोगी की सेवायें प्राप्त होंगी।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि मरीजों को योगिक षटकर्म जलनेति किया, तेलनेति क्रिया, वातक्रम कपाल भाति, चयनित महत्वपूर्ण आसन, प्राणायाम एवं ध्यान द्वारा योग उपचार योग विशेषज्ञ डॉ नन्दलाल यादव के निर्देशन में कराया जायेगा तथा एलोपैथी डॉक्टरों द्वारा एलोपैथी उपचार किया जायेगा। मरीजों को बलरामपुर चिकित्सालय, लखनऊ में केवल 1 घंटे के लिए 4 सप्ताह तक आना होगा। शोध की इस परियोजना को संचालित करने के लिए एथिक कमेटी, बलरामपुर चिकित्सालय, लखनऊ ने अपनी लिखित सहमति प्रदान कर दी है।

इस बारे में रजिस्ट्रेशन एवं अन्य जानकारी के लिए मोबाइल नं0-9415155589 एवं 8115400106 पर संपर्क किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 − one =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.