Saturday , December 4 2021

झोलाछाप’ अस्पताल के मालिक सहित तीन के खिलाफ FIR के साथ ही नर्सिंग होम सील

शामली के आर्यन अस्पताल में मरीजों की जान से खिलवाड़ की खबर पर मंत्री ने दिये निर्देश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री,  सिद्धार्थ नाथ सिंह ने शामली में झोलाछाप डॉक्टर, जो निजी अस्पताल का मालिक भी है, सहित महिला की सर्जरी करने वाले सभी अयोग्य लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अस्पताल को सील करने के निर्देश दिए हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने समाचार का संज्ञान लेते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी, शामली को आर्यन अस्पताल, एम0एस0के0 रोड, शामली के विरुद्ध कार्रवाई किये जाने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने इस प्रकार की घटनाओं के दृष्टिगत समस्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी/मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को यह निर्देश दिये कि वह अपने जनपद में संचालित समस्त नर्सिंग होम पर नजर रखें और किसी भी प्रकार की असंवैधानिक गतिविधियों के विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई सुनिश्चित करें।

स्वास्थ्य मंत्री से प्राप्त निर्देशों के क्रम में मुख्य चिकित्सा अधिकारी, शामली द्वारा निरीक्षण टीम का गठन कर आर्यन अस्पताल का निरीक्षण कराया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजकुमार ने बताया कि निरीक्षण के समय अर्जुन उर्फ नरदेव अस्पताल में नहीं मिले। निरीक्षण टीम द्वारा वायरल सी0डी0 का संज्ञान लेते हुये अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर के साथ ही आईसीयू, ओपीडी रूम तथा आईपीडी रूम को भी सील किया गया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी, शामली ने बताया कि वायरल सी0डी0 में अर्जुन उर्फ नरदेव आपरेशन करते दिख रहे हैं तथा बेहोशी चिकित्सक, डाॅ0 शमशाद अनवर की उपस्थिति के बावजूद महिला कर्मी रेणु मरीज को स्पाईनल इंजेक्शन लगा रही थी, जो कि घोर लापरवाही का द्योतक है। उन्होंने यह भी बताया कि आर्यन अस्पताल के संचालक, अर्जुन उर्फ नरदेव, डाॅ0 शमशाद अनवर एवं श्रीमती रेणु के विरुद्ध इण्डियन मेडिकल कौंसिल एक्ट 1956 एवं आई0पी0सी0 की सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत एफआईआर दर्ज किये जाने के लिए थाना आदर्श मण्डी, शामली को अनुरोध पत्र प्रेषित किया गया है।

आपको बता दें कि मंगलवार को भी स्वास्थ्य विभाग की टीम सील करने गयी थी लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने टीम को वापस कर दिया था। इसके बाद विभाग की ओर से लिखित नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब मांगा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 − 1 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.