लोहिया अस्पताल में अब घर बैठे ऐप से होगा त्वचा रोगों का इलाज

टेलीे डर्मिटोलॉजी की सुविधा शीघ्र शुरू की जायेगी : सिद्धार्थ नाथ

सिद्धार्थ नाथ सिंह

लखनऊ। डॉ राम मनोहर लोहिया शीघ्र ही प्रदेश का पहला अस्पताल हो जायेगा जहां ऐप के जरिये घर बैठे इलाज होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर स्थानीय डॉ. राम मनोहर लोहिया चिकित्सालय, गोमती नगर में चर्म रोगियों की सुविधा के लिए जल्द ही टेली-डर्मिटोलॉजी योजना शुरू की जाएगी। यह जानकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, मंत्री, सिद्धार्थ नाथ सिंह ने दी।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि अभी तक प्रदेश के किसी भी सरकारी अस्पताल में टेली-डर्मिटोलॉजी की सुविधा उपलब्ध नहीं है. वर्तमान में प्रदेश के सरकारी चिकित्सालयों में चर्म रोग विशेषज्ञों की भारी कमी है. इस समस्या को देखते हुए प्रदेश में सर्वप्रथम लोहिया अस्पताल के त्वचा रोग विभाग में टेली-डर्मिटोलॉजी की सुविधा उपलब्ध कराये जाने का निर्णय लिया गया है.

श्री सिंह ने बताया कि त्वचा रोगियों की सुविधा के लिए टेली-डर्मिटोलॉजी प्रक्रिया को बेहद आसान बनाया गया है। साथ ही मरीजों की गोपनीयता का भी पूरा ख्याल रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि रोगी अपने मोबाइल फोन पर गूगल-एप के जरिए अथवा चिकित्सालय की वेबसाइट का इस्तेमाल कर टेली-डर्मिटोलॉजी सुविधा का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। रोगियों को अपनी त्वचा संबंधी बीमारी के लक्षण एवं जिस भाग में समस्या है, उसकी फोटो गूगल-एप अथवा वेबसाइट पर अपलोड करनी होगी। इसके उपरान्त रोगी को उनके मोबाइल पर एक आईडी नम्बर दिया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि चिकित्सक द्वारा लक्षण एवं फोटो के आधार पर उपचार संबंधित सलाह रोगी के मोबाईल तथा आईडी पर भेज दी जाएगी, जिसमें प्रिस्क्रिप्शन भी शामिल होगा। आवश्यकता पडऩे पर विशेषज्ञों द्वारा मरीज को चिकित्सालय भी बुलाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि लोहिया अस्पताल में प्रारम्भ की जा रही इस योजना की सफलता के उपरान्त अन्य चिकित्सालयों को भी इससे जोड़ा जाएगा।