संजय गाँधी पीजीआई में मरीजों को मिला एसी विश्रामालय

24 घंटे बैंक की ए.टी.एम., पासबुक प्रिंटिंग की सुविधा भी मिलेगी

                

लखनऊ. देश और प्रदेश ही नहीं विदेश से भी आने वाले मरीजों को सर्दी, गर्मी, बरसात के मौसम में खुले में इंतज़ार न करना पड़े, इसके लिए स्टेट बैंक ने पीजीआई में एक वातानुकूलित विश्राम गृह एवं ई लॉबी का निर्माण कराया है.  इस मरीज़ विश्राम गृह एवं ई- लॉबी का लोकार्पण आज उत्तर प्रदेश के तकनीकी एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री, आशुतोष टंडन ने किया.

                   

पीजीआई के निदेशक डॉ. राकेश कपूर ने बताया कि विश्राम गृह एवं ई- लॉबी में 75-100 लोगों की बैठने की व्यवस्था है. यहाँ स्वच्छ शौचालय तथा खानपान के लिए कैंटीन की भी समुचित  व्यवस्था  की गयी है. ई-लॉबी में 24 घंटे बैंक की ऑटोमेटेड मशीन जैसे ए.टी.एम., पासबुक प्रिंटिंग इत्यादि की सुविधाएँ उपलब्ध रहेंगी. यह ई –लॉबी अस्पताल प्रवेश द्वार के सामने पी.एम.एस.,एस.वाई. भवन तथा नवीन ओ.पी.डी. के बीच में बनायी गयी है.

 

 

डॉ. कपूर ने बताया कि लम्बे समय से यह प्रयास किया जा रहा था कि जो मरीज़ और उनके रिश्तेदार गर्मी, बरसात तथा सर्दी को झेलते हुए दूर दराज़ से संसथान में चिकित्सा कराने आते है उन्हें स्थान अभाव के कारण अक्सर ही खुले में रह कर प्रतीक्षा करनी पड़ती थी, उनके लिए एक उचित विश्राम गृह की व्यवस्था की जाये. भारतीय स्टेट बैंक ने अपने सी.एस.आर. कार्यकलाप के अंतर्गत एक रोगी विश्राम गृह तथा एक ई- लॉबी के निर्माण का निर्णय लिया एवं इसकी आधारशिला जून 2016 को रखी गयी थी.

 

इस अवसर पर प्रमुख महाप्रबंधक, एस.बी.आई. गौतम सेन गुप्ता ने यह विश्राम गृह एवं ई- लॉबी पी.जी.आई को हस्तांतरित किया. कार्यक्रम में महाप्रबंधक रश्मि प्रसाद, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो. अमित अग्रवाल, डीन प्रो राजन सक्सेना, डीन, पीजीआई एसबीआई शाखा प्रबंधक रश्मि गर्ग उपस्थित थे. इस अवसर पर आशुतोष टंडन तथा प्रमुख महाप्रबंधक, एस.बी.आई. ने वृक्षारोपण भी किया.