सिटी मॉन्टेसरी स्कूल में मिले डेंगू मच्छर के लार्वा

सात और जगहों पर मिले लार्वा, थमायी गयी नोटिस

जिला मलेरिया विभाग की टीम की मेहनत कम कर रही डेंगू की संभावना

लखनऊ। डेंगू की रोकथाम के लिए जिला मलेरिया विभाग की टीम को नित नई-नई सफलताएं मिल रही हैं, वास्तव में टीम द्वारा शहर के विभिन्न संस्थानों का औचक निरीक्षण अभियान, भविष्य में डेंगू वायरस की संभावनाओं को खत्म कर रहा है। टीम ने सोमवार को 31 मुहल्लों में और संस्थानों का निरीक्षण किया, टीम को सिटी मॉन्टेसरी स्कूल गोमती नगर ब्रांच, अलीगंज पुलिस कार्यालय समेत सात संस्थानों में डेंगू मच्छर का लार्वा मिला। सभी सातों संस्थानों के प्रशासन को 24 घंटे में मच्छरजनित स्थितियों को खत्म कर सूचित करने की नोटिस थमा दी गई है।

मलेरिया विभाग की टीम को सोमवार को बड़ी सफलता मिली, टीम ने सीएमएस गोमती नगर ब्रांच का निरीक्षण किया और लार्वा के साथ ही जलभराव की तमाम स्थितियां मिलीं। इस स्कूल में रोजाना हजारों बच्चे पठन-पाठन के लिए आते हैं। ऐसे में स्कूल परिसर में लार्वा की मौजूदगी और जलभराव की स्थितियां भविष्य में बच्चों को मच्छर जनित बीमारियों से ग्रसित होने की संभावनाओं को बढ़ाती हैं। सीएमओ डॉ.जीएस बाजपेई ने कहा कि मच्छर जनित स्थितियों के लिए स्कूल विशेष टारगेट होते हैं, क्योंकि यहां पर बच्चे आते हैं और कैम्पस में मच्छर की मौजूदगी बच्चों को बीमार बनाने में पर्याप्त है। उन्होंने बताया कि अगर निरीक्षण न किया जाता तो स्कूल प्रशासन की लापरवाही युक्त व्यवस्था बच्चों को बीमार बना सकती थी।
उन्होंने बताया कि स्कूल प्रशासन को नोटिस देते हुए मच्छरों को भगाने की व्यवस्था के साथ पैदा होने की स्थितियों को भौतिक, रासायनिक व जैविक संसाधनों से खत्म करने के लिए निर्देश दिये गये हैं। साथ ही स्थिति को गंभीरता से लेने के लिए अवगत कराया गया है ताकि भविष्य में भी मच्छरों जनित स्थितियों से बचाया जा सके। इसके साथ ही पुलिस रिजर्व लाइन, सीओ कार्यालय अलीगंज, थाना अलींगज, लायंस प्रतिष्ठा महिला संस्थान और सुहैल फ्लॉवर शॉप कपूरथला, फस्र्ट फ्लाइट अलीगंज आदि को लार्वा मिलने पर नोटिस थमाई गई है।
ज्ञातव्य हो कि सीएमओ के नेतृत्त में सघन वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। अभियान में मलेरिया विभाग के अधिकारियों के नेतृत्त में कई टीमें गठित हैं, जो कि रोजाना विभिन्न क्षेत्रों में और संस्थान कार्यालय व परिसर में मच्छर जनित स्थितियों और लार्वा की मौजूदगी की जांच करती हैं। रोजाना संस्थानों में लार्वा मिलने की स्थिति में नोटिस भी दी जा रही है।

विभिन्न विभागों को आपसी समन्वय बनाकर कार्य करने के निर्देश

दूसरी ओर जिलाधिकारी ने भी सोमवार को एक बैठक कर डेंगू और जलजनित रोगों की रोकथाम के लिए सम्बन्धित विभागों के समन्वय पर जोर देते हुआ कहा कि इसकी रोकथाम अगर सभी विभाग मिलकर करेंगे तो परिणाम अच्छे आयेंगे। उन्होंने इसके लिए सभी सम्बन्धित विभागों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग, नगर निगम, पंचायत राज विभाग, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, आवास विकास, एलडीए, समाज कल्याण, सिंचाई विभाग, मनोरंजन कर विभाग, कृषि विभाग, वन विभाग, जल संस्थान, भारत संचार निगम, महिला एवं बाल विकास विभाग, नागरिक सुरक्षा विभाग में समन्वय आवश्यक है।
बैठक में एलडीए को निर्देशित किया गया कि डॉ राम मनोहर लोहिया पार्क और जनेश्वर मिश्र पार्क में पब्लिक ऑडियो सिस्टम के माध्यम से डेंगू से बचाव एवं नियंत्रण के उपाय बताये जायें। इसके अतिरिक्त नगरीय क्षेत्रों में शिविर लगाने, रोस्टर बनाकर फॉगिंग कराने, ग्रामीण क्षेत्रों में बीडीओ एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक की संयुक्त टीम डेंगू से बचाव का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के भी निर्देश दिये गये हैं।