केजीएमयू मेें अब तक 2400 लोगों का देहदान के लिए पंजीकरण

एनॉटमी विभाग ने मनाया स्थापना दिवस

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्व विद्यालय केजीएमयू के एनॉटमी विभाग का 106वां स्थापना दिवस मंगलवार 20 जून को मनाया गया। इस मौके पर विभागाध्यक्ष प्रो नवनीत कुमार ने द्वारा बताया गया कि देह दान कार्यक्रम के तहत अब तक करीब 2400 लोगों ने पंजीकरण कराया है तथा इस वर्ष छह माह में अब तक 38 कैडबर प्राप्त हुए हैं।
चिकित्सा संकाय और दंत संकाय के फैकल्टी इंचार्ज प्रो. नर सिंह वर्मा और प्रो. विभा सिंह की ओर से दी गयी जानकारी की अनुसार केजीएमयू स्थित ब्राउन हॉल में आयोजित समारोह में दास और हालिम व्याख्यान का भी आयोजन किया गया, व्याख्यान पूर्व विभागाध्यक्ष एनॉटमी विभाग प्रो. बीआर सिंह द्वारा दिया गया। इस अवसर पर विभाग द्वारा समय-समय  पर आयोजित की जाने वाली विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. मदन लाल ब्रह््म भट्ट, विशिष्ट अतिथि प्रो बीआर सिंह, अधिष्ठाता चिकित्सा संकाय प्रो विनीता दास, अधिष्ठाता दंत संकाय प्रो. शादाब मोहम्मद, प्रो. पुनीता मानिक भी उपस्थित रहे।

छह माह में मिले 38 कैडबर

कार्यक्रम में प्रो. नवनीत चौहान द्वारा वार्षिक प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की गयी। उन्होंने बताया कि विभाग में बॉडी डोनेशन प्रोग्राम के तहत कुल 2400 लोगों ने पंजीकरण करयाहै। इस वर्ष प्रथम 6 माह में विभाग द्वारा 38 कैडबर प्राप्त किये जा चुके हंै तथा इसके अलावा विभाग द्वारा नोरा भी प्राप्त किया गया हैं। विभाग मे 64 स्लाईड थ्री डी सीटी स्कैन गैलरी के माध्यम से छात्रों को प्रशिक्षण देना प्रारम्भ किया जा चुका है। स्किल लैब के द्वारा विभिन्न संस्थानों के सर्जरी के डॉक्टरों को प्रशिक्षित किया जाता है।

शिक्षणों के आचरण और व्यवहार से शिक्षा लें : कुलपति

कार्यक्रम में कुलपति ने विभाग में उपलब्ध सुविधाओं के लिए विभाग की सराहना करते हुए भविष्य में और उन्नत सुविधाओं को उपलब्ध कराने की बात कही। इस अवसर पर प्रो भट्ट द्वारा विजयी प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया गया तथा उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि आप लोगों को इस बात को भी सीखना है कि लोगों और मरीजों के साथ कैसे व्यवहार करें। कैसे मौन वार्तालाप करें। ये सारी बातें आप अपने शिक्षकों के आचरण और व्यवहार से ही सीख सकते हैं।