गोरखपुर मेडिकल कॉलेज मामले में डॉ. सतीश ने किया सरेंडर

रिमांड पर लेने के लिए अदालत में अर्जी दाखिल करेगी पुलिस

डॉ. सतीश

लखनऊ. गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बीती 10-11 अगस्त को ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित होने के बाद हुई बच्चों की मौत के मामले में मेडिकल कॉलेज के एनेस्थीसिया विभाग के प्रभारी डॉ. सतीश ने आज कोर्ट में सरेंडर कर दिया. जहाँ से उन्हें तीन दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. डॉ. सतीश ने अपने एडवोकेट के जरिए विशेष सत्र न्यायधीश की कोर्ट में सरेंडर करने का आग्रह किया था।

 

डॉ. सतीश पर आरोप है कि ऑक्सीजन रुकने की जानकारी के बावजूद वह विभाग और मुख्यालय छोड़कर चले गए। उन्होंने बच्चों की जान बचाने की कोशिश नहीं की, जबकि इन्हें पता था कि ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत हो सकती है।

 

सीओ गोरखपुर कैन्ट अभिषेक कुमार सिंह ने बताया कि न्यायालय ने डॉ. सतीश को तीन दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. उन्होंने बताया कि पुलिस अदालत में अर्जी देकर डॉ. सतीश को 14 दिन के लिए रिमांड पर लेगी. ज्ञात हो इससे पहले प्रिंसिपल डॉ. राजीव, डॉ. राजीव की पत्नी डॉ. पूर्णिमा शुक्ल, एईएस प्रभारी डॉ. कफील और क्लर्क सुधीर पाण्डेय को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. इस तरह से इस मामले में अब तक कुल पांच लोग गिरफ्तार किये जा चुके हैं, जबकि चार लोगों की पुलिस को अभी भी तलाश है.

 

पुलिस बाकी आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है. डॉ. राजीव, डॉ. पूर्णिमा, डॉ. कफील और क्लर्क सुधीर कुमार पाण्डेय को तो पुलिस गिरफ्तार करने में सफल रही थी लेकिन डॉ. सतीश को गिरफ्तार नहीं कर पायी, उसने कोर्ट में सरेंडर कर दिया.