जोश से लबरेज बालिकाओं ने कबड्डी मैच में दिखाया पूरा दमखम

‘हमसे ना लो पंगा’ कबड्डी प्रतियोगिता का पहला क्वार्टर फाइनल मैच संपन्न

लखनऊ। ‘हमसे ना लो पंगा’ इन चार शब्दों ने शहर और गांव की बालिकाओं में ऐसा जोश भरा जो कि उनके द्वारा खेले गए कबड्डी मैच में साफ झलक रहा था। पहली बार अपने तरीके की आयोजित इस कबड्डी प्रतियोगिता का पहला क्वार्टर फाइनल मैच आज बख्शी का तालाब स्थित एस आर ग्लोबल स्कूल में खेला गया। स्कूल का खूबसूरत मैदान आज कबड्डी… कबड्डी से गूंज उठा। शहर और गांव की धाकड़ बालिकाओं ने अपना दमखम दिखाया। सीनियर वर्ग में दयानन्द इंटर कॉलेज, लखनऊ ने एसआर ग्लोबल स्कूल, बीकेटी को पछाड़ दिया। वहीं, जूनियर वर्ग में उच्च प्राथमिक विद्यालय, राजपुर ने उच्च प्राथमिक विद्यालय, अस्ती को धूल चटा दी।

बुधवार को राजधानी के क्वार्टर फाइनल मैच में कुल 16 टीमों ने हिस्सा लिया। इसमें विजयी दो टीमों को लखनऊ के टिकट दिया गया। वहीं, लखनऊ की बेहतर प्रदर्शन करने वाली 5 टीमों को वाइल्ड कार्ड इंट्री भी दी गयी। मैच का उदघाटन राजभवन के मुख्य सुरक्षा अधिकारी कुलदीप सिंह और एसआर ग्रुप के चेयरमैन पवन सिंह चौहान किया। स्थानीय विधायक अविनाश त्रिवेदी के बड़े भाई आलोक त्रिवेदी ने सर्टिफिकेट प्रदान किये।

अंश वेलफेयर फाउंडेशन की संस्थापक अध्यक्ष श्रद्धा सक्सेना और महिला कबड्डी लीग ‘ हमसे न लो पंगा’ के संस्थापक/अध्यक्ष नागेन्द्र बहादुर सिंह चौहान ने बताया कि प्रदेश में पहली बार निजी स्तर पर डब्ल्यूकेएल (महिला कबड्डी लीग) हो रही है। स्वयंसेवी संस्था ‘अंश वेलफेयर फाउंडेशन’ अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर यह अनोखी कबड्डी प्रतियोगिता (डब्ल्यू. के. एल.) करवा रही है। ‘हमसे न लो पंगा’ नाम की इस खेल प्रतियोगिता के माध्यम से बालिकाओं विशेषकर ग्रामीण निजी और सरकारी स्कूलों की बच्चियों में आत्मविश्वास भर रहे हैं। आगामी 28, 29 व 30 अप्रैल को लखनऊ के बाबू केडी सिंह स्टेडियम में सेमी फाइनल/फाइनल मैच होंगे।
आज हुए क्वार्टर फाइनल मैच से पूर्व उदघाटन समारोह में एसआर ग्लोबल स्कूल के बच्चों ने गीत, नृत्य का रंगारंग कार्यक्रम पेश किए। समारोह में व्यापारी नेता गणेश यादव, अभिजीत सिंह बिसेन, समाजसेवी सत्या सिंह, रितु सिंह, ममता सिंह, अंशू पांडेय, सीके ओझा, शालिनी श्रीवास्तव आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।

कबड्डी लीग के मुख्य संरक्षक पवन सिंह चौहान ने कहा कि यूपी लेबल की इस कबड्डी लीग में लड़कियों का भारी उत्साह देखने को मिल रहा है। ग्रामीण इलाके की धाकड़ बच्चियां कबड्डी में पूरा दमखम दिखा रही हैं। इस कबड्डी प्रतियोगिता से बालिकाओं में गजब का आत्मविश्वास जाग रहा है। फाइनल मैच में कई मंत्रियों, अधिकारियों, विशिष्ट लोगों को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है। आगामी तीन मई को राज्यपाल राम नाईक लीग के विजेता/उप विजेता को पुरस्कार देंगे। वह लीग में सहयोग करने वालों को सम्मानित करेंगे। साथ ही, राज्यपाल लीग की स्मारिका का विमोचन भी करेंगे।
अंश वेलफेयर फाउंडेशन की संस्थापक/अध्यक्ष श्रद्धा सक्सेना ने बताया कि इस प्रदेश स्तरीय प्रतियोगिता में आयु वर्ग 10 से 14 वर्ष (जूनियर) और आयु 15 से 18 वर्ष (सीनियर) टीमें खेल रही हैं। प्रतियोगिता में किसी स्कूल या फिर लड़कियों से कोई शुल्क नहीं लिया गया है। इतना ही नहीं, सेमी फाइनल और फाइनल के लिए जो टीमें लखनऊ में आएंगी। आयोजन समिति उन खिलाड़ियों के रहने, खाने का भी सारा इंतज़ाम करेगा। इसके अलावा बालिकाओं में आत्मविश्वास जगाने के लिए योग क्लास और मोटिवेशनल क्लास भी होगी।