केजीएमयू से नाराज मरीज ने बलरामपुर अस्‍पताल में कराया घुटना प्रत्‍यारोपण

बलरामपुर अस्‍पताल में पहली बार हुआ टोटल नी रिप्‍लेसमेंट

लखनऊ। बलरामपुर अस्पताल में पहली टोटल नी रिप्‍लेसमेंट सर्जरी की गयी है। सफलता का नया अध्‍याय लिखने वाली यह सर्जरी एक 65 वर्षीय मरीज के करने में सफलता मिली है। इस मरीज को डायबिटीज के साथ दांहिने पैर में ऑस्टियो ऑर्थराइटिस था। इसके चलते उनका चलना-फिरना मुश्किल था। पिछले पांच साल से इस समस्या से मरीज परेशान था।

 

अस्पताल के निदेशक डा. राजीव लोचन ने बताया कि अस्पताल के पहली टोटल नी-रिप्लेसमेन्ट सर्जरी में सफलता मिली है। सर्जरी में सफलता मिलने के बाद परिजनों ने सर्जरी करने वाले डा. जीपी गुप्ता और उनकी टीम के प्रति आभार जताया।

 

निदेशक डॉ राजीव लोचन के अनुसार 65 वर्षीय अनिल शर्मा अपना इलाज करवाने के लिए केजीएमयू पहुंचे लेकिन वहां लोगों के बर्ताव से काफी नाराज हो गए। इसके बाद 16 मई को उन्होंने बलरामपुर अस्पताल के ऑर्थोपेडिक विभाग में डा. जीपी गुप्ता को दिखाया। इसके बाद कुछ जरूरी जांचें करायी गयीं और बुधवार को नी-रिप्लेसमेन्ट में सफलता मिली। उन्‍होंने बताया कि मरीज की इच्‍छानुसार उसे सबसे अच्‍छा घुटना ऑक्‍जीनियम नी लगाया गया है।

 

इस सर्जरी में एनेस्थेटिक डा. एपी सिंह, डा. नूरुल, डा. सादिक मिर्जा, डा. जीके शर्मा, सिस्टर शशि, राखी, मंजू के साथ ही अन्‍य स्‍टाफ नंदन, प्रेम, मेवालाल का सहयोग रहा।