केजीएमयू में अंडरग्राउंड केबिल में घुसा पानी, बिजली गुल

लखनऊ। बरसात से पहले की बारिश की वजह से दोपहर में केजीएमयू में अंडर ग्राउंड केबिल में पानी घुस गया और शॉर्ट होने से बिजली गुल हो गई। दोपहर दो बजे गुल हुई बिजली, अथक प्रयासों के बाद रात 8.40 बजे आई है। बिजली न होने की वजह से पानी आपूर्ति नहीं हुई, बड़ी मशीनें नहीं चलीं, जिसकी वजह से चिकित्सकीय कार्य प्रभावित रहे। लिफ्ट न चलने से मरीजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।
शुक्रवार को बरसात होने से केजीएमयू के मरीजों को खामियाजा भुगतना पड़ा, अंडर ग्राउंड केबिल में पानी जाने से पूरी लाइन शॉर्ट कर गई और पूरे केजीएमयू परिसर की बिजली आपूर्ति ठप हो गई। मुख्य पीआरओ कार्यालय के सामने के केबिल में फाल्ट आई, जिसे ठीक कराने के लिए बिजली विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बुलाया गया, युद्धस्तर पर कार्य हुआ आखिरकार देर शाम साढ़े आठ बजे के  बाद बिजली आपूर्ति बहाल हो सकी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बिजली गुल होने के बाद, परिसर में स्थित कुछ जेनेरेटरों साथ दिया, कई ने साथ छोड़ दिया। जिसकी वजह से चिकित्सकीय कार्य प्रभावित हुये। पानी आपूर्ति ठप होने की वजह से ओटी व डायलिसिस यूनिट नहीं चली, मरीजों को बैरंग लौटना पड़ा। दूसरी तरफ क्वीन मैरी में भी चिकित्सकीय कार्य प्रभावित रहा, लेबर रूम में खासी दिक्कतें रहीं, परिसर स्थित वार्डो में एसी नहीं चले, गर्मी की वजह से मरीज व तीमारदार परेशान रहें। वहीं ट्रामा सेंटर प्रभारी डॉ.हैदर अब्बास का कहना है कि ट्रॉमा सेंटर में बिजली आपूर्ति बहाल रही, जिसकी वजह से कोई दिक्कत नहीं आई है।

…ताकि दोबारा ऐसा न हो

सवाल यह है कि बरसात का मौसम आ रहा है, कभी भी मानसून आ सकता है, ऐसे में अगर पानी को जमीन के अंदर जाने से रोका नहीं गया तो यह स्थिति बार-बार आ सकती है। इसलिए आवश्यक यह है कि तुरंत ऐसी स्थिति की पुनरावृत्ति होने से रोकने के लिए इंतजाम करने के बारे में केजीएमयू प्रशासन को सोचना होगा।