Tuesday , November 29 2022

वाशिंग्‍टन डीसी के विजिट के दौरान भारतीय संस्‍कृति के प्रचार-प्रसार में भी लगे हैं डॉ विनोद जैन

महामृत्युंजय जाप सहित अन्‍य धार्मिक कार्यक्रमों में लिया हिस्‍सा

सेहत टाइम्‍स  

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय केजीएमयू के सर्जरी विभाग के प्रोफेसर डॉ विनोद जैन आजकल जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी से मिले विजिटिंग फैकल्‍टी के रूप में मिले आमंत्रण के चलते वाशिंग्‍टन डीसी में अपने एकेडमिक विज़िट पर हैं। आध्‍यात्‍म में रुचि रखने वाले डॉ विनोद जैन ने वाशिंग्‍टन डीसी में आयोजित महामृत्युंजय जाप सहित अन्‍य धार्मिक कार्यक्रमों में भाग लिया।

ज्ञात हो डॉ विनोद जैन इस्‍सा (International Society for Spiritual Advancement-ISSA, US based) के उपाध्‍यक्ष भी हैं, जबकि इस्‍सा के अध्‍यक्ष स्‍वामी रामानंद सरस्‍वती उर्फ डॉ रमा शंकर द्विवेदी हैं,  अपनी भारतीय संस्कृति को जीवित रखने के लिए तथा उसका प्रचार एवं प्रसार करने के लिए अमेरिका के विद्वान लोगों के साथ डॉ रमा शंकर द्विवेदी  के साथ रविवार 21 अगस्‍त को धार्मिक कार्यक्रमों में भाग लिया। उन्‍होंने महामृत्युंजय जाप, हनुमानजी की, रामायण जी की आरती और उसके बाद राम चंद्र एवं हनुमानजी से संबंधित कथाओं जिनका आयोजन डॉ आर एस द्विवेदी के घर से हाइब्रिड मॉडल से किया।  इस कार्यक्रम में अमेरिका के विभिन्न प्रांतों के लोगों तथा हिन्दुस्‍तान के विभिन्न शहरों के लोगों ने अपनी सहभागिता की। 

डॉ विनोद जैन ने बताया कि मेरा यह उद्देश्य है कि भारतीय संस्कृति एवं भारतीय परंपरा विश्वविख्यात रहे और भारत आने वाले समय में विश्व गुरु के रूप में जाना जाए। उन्‍होंने कहा कि भारतीय लोग मूल्यों और संस्कृति जीवन शैली के लिए बहुत समृद्ध हैं और जो व्यक्ति आध्यात्मिक जीवन में लीन रहता है उसका सामाजिक एवं एकेडमिक जीवन भी प्रभावशाली रहता है तथा वह पारिवारिक मूल्यों को भी भली भांति समझता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twelve − 1 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.