डेंटल कौंसिल के रजिस्ट्रार के लॉकर में मिले स्वास्थ्य मंत्री की प्रॉपर्टी के दस्तावेज

रिश्वत लेने के मामले में रंगेहाथ गिरफ्तार रजिस्ट्रार के लॉकर की हो रही थी तलाशी

दिल्ली की केजरीवाल सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. सीबीआई को एक दूसरे मामले में उनसे संबंधित प्रॉपर्टी के दस्तावेज मिले हैं, जो उनके लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं. सीबीआई को मिले दस्तावेजों में जैन की तीन प्रॉपर्टीज के कागजात, 2 करोड़ रुपये की डिपाजिट स्लिप्स और उनकी कंपनी की 41 चेकबुक शामिल हैं. माना जा रहा है कि आज मिले अपनी प्रॉपर्टी के दस्तावेज, कैश और चेक डेंटल कॉउन्सिल के एक रजिस्ट्रार ऋषिराज के लॉकर में तब रखवा दिए होंगे जब सत्येन्द्र जैन के अपने घर की तलाशी हो रही थी.

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दरअसल हुआ यूं कि सीबीआई की टीम डेंटल कॉउन्सिल के एक रजिस्ट्रार ऋषिराज के खिलाफ रिश्वत लेने के एक मामले की तफ्तीश कर रही थी. सीबीआई की टीम को इसी तलाशी के दौरान ऋषिराज के लाकर्स से 24 लाख रुपये कैश, आधा किलो सोना, दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन की 3 प्रॉपर्टीज के कागजात और 2 करोड़ की डिपाजिट स्लिप और 41 चेक बुक बरामद हुईं.

 

जानकारी के अनुसार डॉ ऋषि राज और प्रदीप शर्मा को रिश्‍वत लेने के मामले में गिरफ्तार किया गया था. इनके ऊपर एक ब्‍लैक लिस्‍ट कंपनी को फिर से काम देने के ऐवज में 4.73 लाख रुपये रिश्‍वत लेने का आरोप है. इसी मामले में जब सीबीआई ने डॉ. ऋषि के घर पर छापा मारा तो उसने घर से 41 चेक बुक और तीन संपत्‍तयों के दस्‍तावेज बरामद हुए.

बरामद दस्तावेजों में दिल्ली के कराला गांव में खरीदी गईं 2 अलग-अलग जमीनों- 12 बीघा 2 बिस्वा और 8 बीघा 17 बिस्वा जमीन की सेल डीड हैं. इसके अलावा कराला गांव की ही 14 बीघा जमीन की पावर ऑफ अटॉर्नी भी है. साथ ही, साल 2011 की जैन, उनके परिवार और उनकी कंपनियों के नाम से 2 करोड़ रुपये की बैंक डिपाजिट स्लिप्स, जैन और उनके परिवार के सदस्यों और उनकी कंपनियों के अकाउंट की 41 चेकबुक भी मिली हैं.

 

ज्ञात हो इनकम टैक्स विभाग पहले ही आउटर दिल्ली में सत्येंद्र जैन की 220 बीघा जमीन बेनामी प्रॉपेर्टी एक्ट के तहत सीज कर चुकी है. आपको बता दें कि सीबीआई पहले से ही सत्येंद्र जैन के खिलाफ करप्शन और मनी लॉन्ड्रिंग के केस की जांच कर रही है. जांच उनके हवाला ऑपरेटर्स से कनेक्शन और शेल कंपनियों के जरिए ब्लैक मनी को वाइट करने की हो रही है. अब अगले हफ्ते कभी भी सीबीआई सत्येंद्र जैन को दोबारा पूछताछ के लिए बुला सकती है.

 

सीबीआई सूत्रों बताते हैं कि ऐसा लग रहा है कि जब केजरीवाल के मंत्री सत्येंद्र जैन के घर पर छापेमारी के दौरान तलाशी ली जा रही होगी, तभी उन्होंने अपनी संपत्तियों से जुड़े दस्तावेज, कैश और चेक ऋषि राज के लॉकर में रखवा दिए होंगे।