क्या आप जानते हैं दांतों को 24 घंटों में गलाना शुरू कर देती है कोल्ड ड्रिंक ?

सबसे ज्यादा खतरनाक है कोक, इसमें मिली होती है कैफीन

लखनऊ। बच्चे हों या बड़े कोल्ड ड्रिंक पीना सभी को पसंद आता है, आजकल तो गर्मी पड़ रही है लेकिन इसे जाड़े में भी पीना फैशन बन गया है. गर्मी का मौसम में तो शरीर को अगर कुछ रिलीफ मिलता है तो वह मिलता है ठंडी चीजों से। लेकिन जहाँ तक बाजार में मिलने वाले विभिन्न ब्रांड के कोल्ड ड्रिंक की बात है तो इसका ज्यादा सेवन हमारे लिए नुकसानदायक है. बच्चे कुछ ज्यादा ही कोल्ड  ड्रिंक पीने में रुझान दिखाते हैं तो हमने इसके नुकसान के बारे में केजीएमयू के दंत रोग विशेषज्ञ प्रो एपी टिक्कू से बात की। बात की शुरुआत हमने यह कहकर कि एक योग गुरु के कथन कि कोल्ड  ड्रिंक इतनी नुकसानदायक है कि इससे टॉयलेट साफ किया जा सकता है यानी यह तेजाब की तरह ही घातक है। इस पर प्रो टिक्कू ने कहा कि निश्चित रूप से कोल्ड  ड्रिंक पीना नुकसानदायक है।

प्रो. एपी टिक्कू

प्रो टिक्कू ने कहा कि यह दांतों को कितना नुकसान पहुंचाता है इसका अंदाज इसी से लगा लीजिये कि अगर एक दांत को कोल्ड  ड्रिंक में डुबोकर रख दीजिये, आप देखेंगे कि 24 घंटे बाद दांत पर कोल्ड ड्रिंक का असर दिखना शुरू हो जायेगा। इनेमल की परत जो दांतों पर चढ़ी रहती है, वह शरीर में सबसे मजबूत होती है. यह परत ही दांतों को जीवन भर ठंडे-गरम के अहसास से बचाती है, कोल्ड ड्रिंक का असर इस मजबूत इनेमल पर साफ देखा जा सकता है। यानि इतनी मजबूत चीज को भी गलाने का काम कोल्ड ड्रिंक करती है. एक बार यह परत हटी तो समझ लीजिये परेशानियों का दौर शुरू.

 

उन्होंने कहा कि कोल्ड  ड्रिंक का असर पेट और आंतों पर भी होता है। उन्होंने बताया कि यही नहीं बच्चे एक ब्रांड विशेष वाला कोल्ड ड्रिंक पीने के लती हो जाते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि कोल्ड ड्रिंक भी जो ब्लैक यानी कोक होती है वह ज्यादा नुकसानदायक है क्योंकि इसमें कैफीन होती है।

यह पूछने पर कि इसे पीने की आदत कैसे छुड़ाई जाए, इस पर उन्होंने कहा ऐसा नहीं है अगर कभी-कभी कोल्ड ड्रिंक पी जाए तो कोई विशेष नुकसान नहीं है।

 

बच्चों को रात में न दें, टॉफी, चॉकलेट, दूध

एक और खास बात बताते हुए प्रो टिक्कू ने कहा कि बच्चों को चॉकलेट, टॉफी रात में न दें। इसी तरह एक बहुत ही कॉमन आदत होती है बच्चों को रात में सोते समय दूध देने की, रात में दूध पिलाकर बच्चे को नहीं सुलाना चाहिये यह सबसे ज्यादा खतरनाक है। यह दांतों को बहुत नुकसान करता है।