घबराएं नहीं, गुर्दे के अनुवांशिक कैंसर की संभावना सिर्फ सिर्फ 5%

यूरो-अंकोकाॅन 2018 दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन शुरू

लखनऊ। यदि किसी मरीज को गुर्दे का कैंसर हुआ था तो सामान्यतः उनके बच्चे घबराते हैं कि उन्हें भी गुर्दे का कैंसर होने की संभावना बहुत ज्यादा है लेकिन ऐसा नहीं है, सिर्फ 5 फ़ीसदी लोगों में गुर्दे का अनुवांशिक कैंसर पाया गया है शेष 95 प्रतिशत गुर्दे के कैंसर के कारण दूसरे रहे।

 

यह जानकारी संजय गांधी PGI के यूरोलॉजी विभाग के विभाग अध्यक्ष प्रोफ़ेसर प्रोफ़ेसर अनीश श्रीवास्तव ने दी। श्री श्रीवास्तव आज यहां केजीएमयू के अटल बिहारी वाजपेयी साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में यूरो-अंकोकाॅन 2018, दो दिवसीय अंतर्रष्ट्रीय सम्मेलन में बोल रहे थे। उन्होंने गुर्दे के कैंसर के मॉलिक्यूलर बायोलॉजी के बारे में जानकारी दी।

सम्मेलन का आयोजन किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय, सूपर स्पेशलिटी कैन्सर संस्थान, सी0जी0 सिटी, लखनऊ, एसजीपीजीआईएमएस, लखनऊ, जेनिटो-यूरिनरी कैन्सर सोसाॅयटी आॅफ इंडिया लखनऊ और लखनऊ यूरोलाॅजी क्लब के संयुक्त तत्वावधान में किया गया है।

डॉ0 एच0एस0 पाहवा, सुपर स्पेशलिटी कैंसर संस्थान ने बताया कि उपरोक्त अंतर्राष्ट्रीय गोष्ठी में यूरो-जेनिटल कैन्सर के 4 अंतर्राष्ट्रीय एवं 40 से अधिक राष्ट्रीय विशेषज्ञो द्वारा भारतीय परिपेक्ष्य में मूत्र रोग सम्बंधी विकारो के संदर्भ में नए, सस्ते परंतु कारगर तरीकों और अन्य उपलब्ध अत्याधुनिक निदानों पर चर्चा की गई। उपरोक्त कड़ी में डाॅक्टर, सर्जन, कैन्सर सर्जन, एवं विकिरण विशेषज्ञों को प्रशिक्षित किया गया। सम्मेलन में 300 से अधिक प्रतिभागीयों द्वारा प्रतिभाग किया गया ।

6 प्रकार का होता है गुर्दे का कैंसर

यूरोलाॅजी विभाग के0जी0एम0यू0 के डाॅ0 दिवाकर दलेला ने बताया कि गुर्दे का कैंसर 6 प्रकार होता है। अतः चिकित्सकों को ऐसे मरीजो का उपचार करने से पहले पूर्णतः आश्वस्त हो जाना चाहिए कि मरीज को किस प्रकार का कैंसर है, तभी मरीज को पूरा लाभ मिल सकेगा।

रोबोटिक सर्जरी से गुर्दे से निकाले सात ट्यूमर

राजीव गांधी कैंसर संस्थान के निदेशक डाॅ0 सुधीर रावल ने बताया कि रोबोटिक सर्जरी से गुर्दे के कैंसर के मरीजों की सर्जरी में बेहतर परिणाम मिल रहा है तथा ऐसे मरीज जिनके अन्य अंगो में भी कैंसर फैल चुका है उनमे भी रोबोटिक सर्जरी का अच्छा परिणाम मिलता है। डाॅ0 रावल ने बताया कि बंग्ला देश के मरीज के गुर्दे में 7 ट्यूमर थे उसे रोबोटिक सर्जरी के माध्यम से निकला दिया गया।

डाॅ0 गुरू कमल चट्टा, विभागाध्यक्ष जेनाइटो यूरीनरी अंकोलाॅजी, अमेरीका रोजवेल पार्क कैंसर इंस्टीट्यूट, न्यूयाॅर्क अमेरिका द्वारा गुर्दे के कैंसर की सर्जरी के बाद दी जाने वाली आधुनिक दवाओं के संदर्भ में बताया गया तथा उन्होंने यह भी बताया कि अत्याधुनिक दवाओं से मरीजों का सर्वाइवल रेट बढ़ रहा है एवं पहले की तुलना में चिकित्सकों के पास दवाओं का विकल्प भी बढ़ गया है।

डाॅ0 खुर्शीद गुरू द्वारा प्रोस्टेट कैंसर का भारतीय परिपेक्ष्य में कैसे स्क्रीनिंग होनी चाहिए इस संदर्भ में जानकारी दी। डाॅ0 ए0के0 आनंद, मैक्स अस्पताल द्वारा प्रोस्टेट कैंसर में विकिरण चिकित्सा के आधुनिक तकनीकों आईजीआरटी, आईएमआरटी, एसबीआरटी का लाभ तथा इसको देने की विधियों के संदर्भ में बताया गया तथा उन्होनें बताया इन तकनिकों से प्रोस्टेट के कैंसर का सम्पूर्ण उपचार सम्भव है।