राजा होकर भी समाज के अंतिम व्यक्ति को देखते थे शाहूजी महाराज : मौर्य

केजीएमयू के ब्राउन हॉल में मनायी गयी शाहूजी महाराज की जयंती

लखनऊ। छत्रपति शाहूजी महाराज स्मृति मंच के तत्वावधान में शाहूजी महाराज की जयन्ती किंग जॉर्ज चित्किसा विश्व विद्यालय सेल्बी(ब्राउन) हॉल में मनायी गई। जयन्ती समारोह के मुख्य अतिथि राम नाईक राज्यपाल एवं विशिष्ट अतिथि, मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य मंत्री द्वारा मुख्य गेट पर स्थापित छत्रपति शाहूजी महाराज की प्रतिमा पर पुष्पार्पण कर कार्यक्रम में भाग लिया।

छत्रपति शाहूजी महाराज के नाम पर करें चिविवि

जयन्ती समारोह की अध्यक्षता कर रहे रामचन्द्र पटेल अध्यक्ष, छत्रपति शाहूजी महाराज स्मृति मंच ने अपने सम्बोधन में कहा की छत्रपति शाहूजी महाराज को इस देश के इतिहास में सामाजिक विषमताओं के खिलाफ संघर्ष करने वाले तथा सामाजिक समता को भारतीय समाज में स्थापित करने के लिए एक संघर्षशील व्यक्तित्व के लिए जाना जाता है। उन्होंने राज्यपाल व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के समक्ष प्रस्ताव रखा कि केजीएमयू जो अंग्रेजों के नाम पर है, का नाम हटा कर पूर्ववत छत्रपति शाहूजी महाराज का नाम बहाल किया जाय।

कोल्हापुर को शिक्षा का केंद्र बना दिया था शाहूजी महाराज ने : राज्यपाल

राज्यपाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि शाहूजी महाराज की जयन्ती पर तीसरी बार यहां आया हूं, पहली बार 26 जुलाई में आया था तभी मेंने 26 जून को जयन्ती मनाने के लिए कहा था, उन्होंने शाहूजी महाराज की जयन्ती तथा ईद की उत्तर प्रदेश की जनता को हार्दिक बधाई दी शाहूजी महाराज ने समाज के पिछड़े और दलित तथा सर्व समाज की महिलाओं को निशुल्क शिक्षा की व्यवस्था की। शाहूजी महाराज ने अपने राज्य में कोल्हापुर को शिक्षा का एक केन्द्र बना दिया था।
स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज डॉ. अम्बेडकर जिन्होंने भारतीय संविधान लिखा उनके पीछे शाहू जी महाराज का महत्वपूर्ण योगदान था, एक राजा होकर भी समाज के अन्तिम व्यक्ति के दर्द को देखकर दूरदर्शी नीतियों के कार्य करते तथा समता मूलक समाज के लिए आरक्षण के जनक के रूप में जाना जाता है।
कार्यक्रम में केजीएमयू के कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट डॉ. एसपी जैसवार, डॉ पूरन चन्द्र ,डॉ. यूएस पाल, जीएस राना, पवन कुमार सिंह , ओम प्रकाश अनुरागी,  राम बिरज रावत, अरविन्द सिंह रावत, डॉ मेवा लाल भार्गव ,डॉ सुरेश कुमार, डॉ. विरेन्द्र वर्मा, डॉ सरिता सिंह, जितेन्द्र कुमार, प्रताप नारायण कन्नौजिया, वेद प्रकाश, सन्त बक्स सिंह, जगदीश प्रसाद दिवाकर ,विरेन्द्र पटेल,ओम पाठक को सम्मानित किया गया । कार्यक्रम की अध्यक्षता रामचन्द्र पटेल छत्रपति शाहूजी महाराज स्मृति मंच एवं संचालन अजुर्न देव भारती ने किया और कार्यक्रम में सांस्कृतिक विभाग के लोक गायक राम निवास पासवान ने अपने गीत के माध्यम से भावविभोर कर दिया।
समारोह में डॉ. आरआर जैसवार, अरुण पटेल, राकेश कुमार रावत, वीरेन्द्र सिंह पटेल, ओपी वर्मा, सुभाष चन्द्र नेताजी, पंकज कुमार मौर्य, जयप्रकाश वर्मा, गया सिंह, भारत सिंह, रवि शंकर, रमाशंकर, कृपाशंकर, केआर कौशल, गौतम जयन्त ने अपने विचार रखे।