Friday , October 22 2021

आवश्‍यकता के मुकाबले आधी मात्रा में ही रक्‍त उपलब्‍ध हो पाता है देश भर में

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के आवास पर आयोजित किया गया रक्‍तदान शिविर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है आज स्थिति यह है कि देश में जितनी मात्रा में रक्‍त की आवश्‍यकता है उसकी आधी मात्रा की ही पूर्ति हो पाती है, इसलिए लोगों को चाहिये कि रक्‍तदान के प्रति जागरूक हों।

 

मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग द्वारा आयोजित स्वैच्छिक रक्तदान कार्यक्रम के उद्घाटन अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि रक्तदान महादान है और यह एक पुण्य का काम है। रक्तदान से जरूरतमंदों के जीवन की रक्षा की जा सकती है। रक्तदान को बढ़ावा देने में चिकित्सा संस्थानों तथा स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ-साथ जन-मानस का सहयोग आवश्यक है। रक्तदान से किसी प्रकार की कमजोरी नहीं होती है, स्वस्थ व्यक्ति हर तीन माह में एक बार रक्तदान कर सकता है।

 

रोजाना 130 लाख यूनिट रक्‍त की होती है जरूरत

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि देश की आबादी के लिहाज से 130 लाख यूनिट प्रतिदिन रक्त की आवश्यकता होती है, लेकिन उसकी तुलना में उसका आधा ही रक्त उपलब्ध हो पाता है। रक्त के अभाव में जरूरतमंद की मृत्यु हो सकती है या फिर गम्भीर बीमारियों से वह ग्रसित हो सकता है। उन्होंने कहा कि हम सभी को स्वैच्छिक रक्तदान का भागीदार बनना चाहिए। रक्तदान शिविरों का खास महत्व होता है। इन शिविरों के माध्यम से रक्तदान के सम्बन्ध में भ्रांतियां तो दूर होती ही हैं, साथ ही जन-जागरूकता भी बढ़ती है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विज्ञान यह स्वीकार करता है कि रक्तदान करने से किसी प्रकार की दुर्बलता नहीं होती है। उन्होंने चिकित्सा विश्वविद्यालय द्वारा रक्तदान शिविर के आयोजन के लिए ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ तूलिका चन्द्रा की सराहना की।

 

ब्लड डोनर मोबाइल वैन का शुभारम्भ

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने ब्लड डोनर मोबाइल वैन का शुभारम्भ किया। उन्होंने स्वैच्छिक रक्तदान करने वाले रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया।  इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन, किंग ज्रॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट सहित विभिन्न संकायों के विभागाध्यक्ष एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × three =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.