पागल कुत्‍ते पर व़ृद्ध पड़ा भारी, दांत से गरदन में काटकर कुत्‍ते को ही मार डाला, वृद्ध अस्‍पताल में भर्ती

बगीचे में गये व़ृद्ध पर पहले पागल कुत्‍ते ने किया था हमला, 30 बार काटा

कुत्तों के काटने से लोगों की हुई मौत के किस्से अनेक बार सुने होंगे लेकिन बिहार के पूर्णिया जिले में जो हुआ उसे सुनकर आप चौंक जायेंगे, यहां एक वृद्ध पर जब एक पागल कुत्‍ते ने हमला किया तो अपनी जान खतरे में देखकर वृद्ध ने ही कुत्‍ते की गरदन में काट कर उसे मार डाला, इस घटना में घायल वृद्ध का इलाज अस्‍पताल में चल रहा है।

 

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार बिहार के पूर्णिया जिले के नगर थाना क्षेत्र के चंपानगर में शुक्रवार को एक ऐसी अनोखी घटना घटी है, जिसे सुन कर लोगों को विश्वास ही नहीं हो पाएंगा। यह घटना बिलकुल सच है।  एक पागल कुत्ते ने एक वृद्ध व्यक्ति पर अचानक हमला बोल दिया। इस हमले में कुत्ते ने 70 वर्षीय वृद्ध को करीब 30 बार काट कर लहुलूहान कर अधमरा कर दिया। उसके बाद अपनी मौत को नजदीक देख और खुद को बचाने के लिए वृद्ध ने उस पागल कुत्ते को पकड़ दांत से गला चांप कर मार डाला।

 

घायल अधेड़ को लहूलुहान अवस्था में इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है। घायल व्यक्ति केनगर प्रखंड के चंपानगर निवासी 70 वर्षीय धनिक लाल विश्वास है। जानकारी में आया है कि वह बहियार से घास काट कर लौट रहा था। घास को सड़क के किनारे छोड़कर पास ही के एक बगीचे में चला गया जहां एक पागल कुत्ता मौजूद था।

 

पागल कुत्ते ने धनिक को देखते ही उस पर ताबड़तोड़ हमला करना शुरू कर दिया। इसके बाद अपनी जान बचाने के लिए धनिक लाल को कुत्ते की जान लेनी पड़ी। उसके बाद वृद्ध ने शोर मचाया, जिसे सुनकर मौके पर पहुंचे लोगों ने उन्हें सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है।

 

आपको बता दें कि कुछ समय पूर्व उत्तर प्रदेश का सीतापुर जिला कुत्तों के आतंक की चपेट में आ गया था। सीतापुर में कुत्तो के आतंक और उन्हें मारे जाने का मामला देश की सर्वोच्च अदालत, सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था। सीतापुर जनपद में पागल या आवारा कुत्तों ने करीब 13 बच्चो की जान ले ली थी।कुत्तों के हमले के 27 मामले प्रशासन की नज़र में आये थे।