पूर्व सैनिकों के लिए एम्बुलेंस हेल्प लाइन प्रारम्भ

अनिल राजभर

उप्र पूर्व सैनिक कल्याण निगम कार्यालय में राज्यमंत्री अनिल राजभर ने किया उद्घाटन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए जो एक्शन प्लान तैयार किया है उसकी एक महत्वपूर्ण कड़ी, एम्बुलेंस हेल्प लाइन सुविधा, का आज से शुभारम्भ कर हम अपने लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं। पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए इस हेल्प लाइन सेवा को शुरु करना एक मील का पत्थर साबित होगा। जब प्रयास ईमानदारी के साथ होता है तो परिणाम स्वत: ही सामने आने लगता है। केन्द्र तथा प्रदेश सरकार पूर्व  सैनिकों के सम्मान में कभी कोई कमी नहीं आने देगी।
यह बात आज 16 जून को यहां तेलीबाग स्थित उप्र पूर्व सैनिक कल्याण निगम कार्यालय में पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए एम्बुलेंस हेल्प लाइन सुविधा का शुभारम्भ करते हुए प्रदेश के सैनिक कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनिल राजभर ने कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार पूर्व सैनिकों के लिए कुछ कर पाये यह उसके लिए सौभाग्य की बात है। पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए महाराष्ट्र सरकार की योजनाओं की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार का सदैव यही प्रयास होगा कि प्रदेश सरकार भी महाराष्ट्र सरकार की तरह ही इस योजना पर काम करे।
श्री राजभर ने पूर्व सैनिकों तथा कार्यक्रम में आये उनके परिवार के लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश के किसी भी हिस्से में पूर्व सैनिक के कल्याण के लिए जो भी अच्छी से अच्छी योजनाएं चल रही हैं उन्हें संज्ञान में लें ओर प्रदेश सरकार को सुझाव के रुप में दें। सरकार की पूरी कोशिश होगी कि इन सुझावों का पालन किया जाये। उन्होंने पूर्व सैनिकों के परिवारों से कहा कि जब भी आपको प्रदेश सरकार के सहयोग की आवश्यकता महसूस होगी सरकार सदैव आपको सहयोग देने के लिए तत्पर रहेगी।
कार्यक्रम में निगम के उप महाप्रबंधक कर्नल एसके तिवारी (अप्रा) ने बताया कि यह हेल्प लाइन सुविधा लखनऊ नगर पालिका के अन्तर्गत 100 रुपये के किराये पर मिलेगी और अन्य जनपदों में जाने पर केवल ईंधन पर आने वाला व्यय ही लिया जाएगा जो 10 रुपये प्रति किमी प्रतिलीटर की दर से होगा और 24 गुणा 7 क्रियान्वित रहेगी।
ज्ञात हो कि उप्र पूर्व सैनिक कल्याण निगम उत्तर प्रदेश सरकार की कल्याणकारी संस्था है। इस संस्था का मुख्य उद्देश्य पूर्व सैनिकों, वीर नारियों, विधवाओं एवं उनके आश्रितों के पुनर्वास एवं कल्याण के लिए योजनाएं संचालित करना है।