अबकी एम्बुलेंस खराब मिली तो जीवीके जायेगी काली सूची में

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अरुण कुमार सिन्हा को निर्देश दिए कि एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस में यदि किसी भी प्रकार की कमियां हैं, तो तत्काल उनको ठीक कराया जाए और जरूरतमंदों तक इस सेवा का लाभ पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंनें इस एम्बुलेंस सेवा को प्रदान करने वाली कम्पनी के निदेशक व सीईओ को चेतावनी दी कि अबकी अगर गड़बड़ी की शिकायत मिली तो एम्बुलेंस सेवा प्रदाता कम्पनी जीवीके को काली सूची में डाल दिया जायेगा।

प्रमुख सचिव को तकनीकी खराबियों की जांच रिपोर्ट देने के निर्देश

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कतिपय समाचार पत्रों में एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस में तकनीकी खराबी से संबंधित समाचार प्रकाशित किए जा रहे हैं। इसके अलावा मुख्यमंत्री की फ्लीट में लगाई गई एम्बुलेंस में भी तकनीकी खराबी बताई जा रही है। उन्होंने इस प्रकरण को अत्यन्त गम्भीरता से लेते हुए तत्काल इसकी जांच कराकर रिपोर्ट उन्हें उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

कम्पनी के निदेशक व सीईओ को दी कड़ी चेतावनी

श्री सिंह ने एम्बुलेंस सेवा प्रदाता एजेन्सी जीवीके के निदेशक कृष्णम् राजू एवं सीओ जितेन्द्र वालिया को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस सेवा के संचालन में किसी भी प्रकार की लापरवाही और अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। यदि भविष्य में किसी प्रकार की कमी अथवा लापरवाही पायी जाती है, तो कम्पनी को तत्काल कालीसूची में डाल दिया जाएगा।