Wednesday , November 30 2022

दस वर्षों में 25 हजार हार्ट इंटरवेंशन प्रक्रियाएं की गयीं लोहिया संस्‍थान में

-समारोह पूर्वक मनाया गया कार्डियोलॉजी विभाग का स्‍थापना दिवस

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। डा0 राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान का कार्डियोलॉजी विभाग दस वर्ष का हो गया। अपने इस एक दशक के सफर में जहां ओपीडी में ढाई लाख से ज्‍यादा मरीजों को देखा गया वहीं करीब 25 हजार इंटरवेंशन प्रक्रियाएं की गयीं। इसके अतिरिक्‍त हाल ही में एक विषेश हार्ट फेल्योर और पी0ए0एच0 क्लीनिक आरम्भ की गयी है।

कार्डियोलॉजी विभाग के स्‍थापना दिवस पर प्रशासनिक भवन स्थित सभागार में आयोजित समारोह में मुख्‍य अतिथि के रूप में संस्‍थान की निदेशक डॉ सोनिया नित्‍यानंद तथा सम्मानित अतिथि प्रो0 दीपक मालवीय एवं प्रो0 नुजहत हुसैन तथा विषेश अतिथि के रूप में प्रो0 मुकुल मिश्रा को ’’कार्डियोवेस्कुलर मेडिसिन’’ के भविष्‍य पर चर्चा करने के लिए मुख्य वक्ता के रूप में आमंत्रित थे। प्रो मु‍कुल मिश्रा ने विशेष रूप से समयबद्व तरीके से दिशा निर्देशित चिकित्सा और जीवन शैली में संशोधन के साथ हृदय रोगों को रोकने पर ध्यान देने के बारे में जानकारी दी।

विभागाध्यक्ष डा0 भुवन चन्द्र तिवारी ने 10 वर्षों का विभाग का रिपोर्ट कार्ड प्रस्‍तुत करते हुए भविष्‍य के दृष्टिकोण को साझा करते हुए बताया‍ कि हृदय रोगियो के लिए और भी विशेष क्लीनिक खोलने की योजना बन रही है।

निदेशक डॉ सोनिया नित्‍यानंद ने सभा को संबोधित करते हुये कार्डियोलॉजी विभाग के प्रयासों तथा पिछली प्रगति की सराहना की और भविष्‍य की प्रगति का मार्ग भी दिखाया। इसके साथ ही उन्होंने विशेष रूप से हृदय चिकित्सा के क्षेत्र में अनुसंधान और निवारण की आवश्‍यकता पर जोर दिया।

कार्यक्रम में पूर्व छात्र भी शामिल हुये और संस्थान में सीखने के अपने अनुभव भी साझा किये तथा संस्थान द्वारा प्रदान किये गये सीखने के माहौल की भी सराहना की। कार्यक्रम में फैकल्टी, छात्रों तथा कर्मचारियों ने भाग लिया तथा डा0 सुदर्शन के विजय के धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

sixteen − ten =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.