जागरूकता तो बढ़ी लेकिन हालात अब भी चिंताजनक

अन्तर्राष्ट्रीय तम्बाकू रहित दिवस की पूर्व संध्या पर होगा विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के मद्यनिषेध विभाग द्वारा प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी आगामी 31 मई को मनाये जाने वाले अन्तर्राष्ट्रीय तम्बाकू रहित दिवस की पूर्व संध्या पर कल 30 मई को सायं 5:00 बजे से 8:00 तक हजरतगंज मल्टी लेवल पार्किंग प्रवेश के पास (हनुमान मन्दिर के पास) एक स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जायेगा, जिसमें जादू के कार्यक्रम के अलावा मद्यनिषेध से सम्बन्धित प्रदर्शनी भी लगाई जायेगी।
क्षेत्रीय मद्यनिषेध एवं समाजोत्थान अधिकारी, आरएल राजवंशी ने बताया कि प्रर्दशनी में तम्बाकू के प्रयोग के दुष्परिणामों  को दर्शाया  जायेगा। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय परिसर स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 के अनुसार भारत में अभी भी 59 प्रतिशत पुरुष और 10 प्रतिशत से अधिक महिलाएं तम्बाकू का सेवन करती हैं। हालांकि पहले की अपेक्षा स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ रही है और सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान प्रतिबंधित किए जाने का भी सकारात्मक प्रभाव सामने आ रहा है, लेकिन अभी हालात चिंताजनक हैं। नई पीढ़ी का फैशन के रूप में सिगरेट-तम्बाकू के प्रति आकर्षण कम नहीं हुआ है, आवश्यक है कि नई पीढ़ी को इसके दुष्प्रभावों से बचाने के लिए जागरूक किया जाए। कल के कार्यक्रम में युवाओं को तम्बाकू सेवन के दुष्परिणामों के बारे में विशेष रूप से जानकारी दी जायेगी। इसी के मद्देनजर प्रदेश के मद्य निषेध विभाग द्वारा समय-समय पर विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।