उत्तर प्रदेश के 38 संवेदनशील जिलों में जेई टीकाकरण 25 मई से 11 जून तक

मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ कुशीनगर से करेंगे अभियान का शुभारम्भ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के 38 संवेदनशील जनपदों में मस्तिष्क ज्वर की रोकथाम एवं विशेष टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ कल 25 मई को कुशीनगर में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ करेंगे। इस अभियान के सफल संचालन के लिए विभिन्न मंत्रियों को भी प्रभारी मंत्री के रूप में नामित किया है। प्रदेश में मस्तिष्क ज्वर टीकाकरण विशेष अभियान 11 जून तक चलाया जाएगा, इसके लिए जनपद स्तरीय सूक्ष्म कार्य योजना (माइक्रोप्लान) तैयार किया गया है। टीकाकरण अभियान के नामित प्रभारी मंत्री कल से अपने-अपने जनपद में टीकाकरण कार्यक्रम/अभियान का शुभारम्भ करेंगे।

सिद्धार्थ नाथ सिंह

टीकाकरण के साथ ही जन जागरूकता अभियान भी

प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने आज यहां बताया कि प्रदेश के अनेक जिलों में मस्तिष्क प्रकोप एवं दुष्प्रभाव से अनेक छोटे बच्चों की असमय मृत्यु हो जाती है अथवा वे अपंग हो जाते हैं। यह स्थिति अत्यंत चिन्तनीय और संवेदनशील है। इस चुनौती पूर्ण कार्य के लिए ही राज्य सरकार ने इस अभियान को व्यापक रूप से संचालित करने का फैसला किया है। इसे मुख्य रूप से चिन्हित 38 जनपदों में संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मस्तिष्क ज्वर से बचाव के लिए टीकाकरण के साथ-साथ जन जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा और लोगों को इससे होने वाले दुष्परिणामों से भी अवगत कराया जाएगा। उन्हें इस कार्य के लिए प्रेरित किया जाएगा कि वे अपने बच्चों में मस्तिष्क ज्वर से बचाव हेतु टीका अवश्य लगवाएं। विशेष रूप से 1 से 15 वर्ष के बच्चे जो, पूर्व में टीकारण से वंचित रह गये हैं, उन बच्चों को भी इस अभियान के अन्तर्गत टीकाकरण से आच्छादित किया जाए, जिससे इस भयावह रोग पर अंकुश लग सके और इसे नियंत्रित किया जा सके।

टीकाकरण से छूटे बच्चों के टीकाकरण का लक्ष्य

श्री सिंह ने बताया कि प्रदेश के चार जिलों बहराइच, बलरामपुर, सीतापुर एवं श्रावस्ती में जेई(जैपनीज इन्सेफिलाइटिस) का पुन: अभियान चलाया जाएगा। इसके अतिरिक्त प्रदेश के 34 जनपदों में जेई टीकाकरण के छूटे हुए बच्चों को शत-प्रतिशत आच्छादित करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि जेई टीकाकरण अभियान के तहत 38 जिलों के लगभग 8857125 बच्चों को जेई वैक्सीन से आच्छादित किया जाएगा। जेई वैक्सीन की प्रथम खुराक (9 से 12 माह) एवं दूसरी खुराक (16 से 24 माह पर) नियमित रूप से इन संवेदनशील जिलों में पहले से ही  दी जा रही है। इस  अभियान के अन्तर्गत छूटे हुए बच्चों को विशेष रूप से आच्छादित करने की योजना है। उन्होंने बताया कि जेई टीकाकरण विशेष अभियान से संबंधित दिशा-निर्देश जिलों को पहले ही दिए जा चुके हैं। अभियान की सफलता के लिए उपकेन्द्र, स्कूल , आंगनबाड़ी केन्द्र, मलिन बस्तियां, अल्प संख्यक क्षेत्र तथा पिछड़े क्षेत्रों में टीकाकरण केन्द्र स्थापित किए गए हैं। इन सभी केन्द्रों पर जेई वैक्सीन एवं अन्य सामग्री सिरिंज इत्यादि उपलब्ध कराई जा चुकी है।

सभी जिलों के लिए मंत्रियों, सांसदों, विधायकों को सौंपी गयी जिम्मेदारी

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल जनपद कुशीनगर में इस विशेष टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ करेंगे। इनके अतिरिक्त उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य आजमगढ़, लक्ष्मी नारायण चौधरी शाहजहांपुर, सुरेश राणा संतकबीरनगर, सांसद विधान सभा सदस्य बलरामपुर, सांसद विधान सभा सदस्य सहारनपुर, सूर्य प्रताप सिंह शाही देवरिया, रीता बहुगुणा जोशी सीतापुर, श्रीकान्त शर्मा सुल्तानपुर, रमापति शास्त्री उन्नाव, सत्यदेव चौधरी फतेहपुर तथा सतीश महाना फैजाबाद में टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ करेंगे।
इसी प्रकार सांसद विधान सभा सदस्य जौनपुर, एसपीसिंह बघेल अम्बेडकरनगर, मोहसिन रजा अमेठी, उपेन्द्र तिवारी गोण्डा, धर्मपाल सिंह गोरखपुर, सांसद विधान सभा सदस्य गाजीपुर, गुलाबो देवी लखीमपुरखीरी, राजेश अग्रवाल लखनऊ, आशुतोष टण्डन इलाहाबाद, सांसद/विधान सभा सदस्य बलिया, स्वामी प्रसाद मौर्य बहराइच, बृजेश पाठक बरेली, दारासिंह चौहान बाराबंकी, चेतन चैहान बस्ती, मुकुट बिहारी वर्मा कानपुर देहात तथा अनुपमा जायसवाल कानपुर नगर में टीकाकरण के शुभारम्भ कार्यक्रम में भाग लेंगी।
इनके अतिरिक्त सांसद/विधान सभा सदस्य शामली, मऊ, मुजफ्फरनगर एवं पीलीभीत, जैप्रताप सिंह सिद्धार्थ नगर, अनिल राजभर हरदोई, स्वाती सिंह प्रतापगढ़, नंद गोपाल गुप्ता रायबरेली तथा रणवेन्द्र प्रताप उर्फ चुन्नी सिंह श्रावस्ती में टीकाकरण कार्यक्रम का शुभारम्भ करेंगे। स्वास्थ्य मंत्री स्वयं जनपद महाराजगंज में आयोजित टीकाकरण कार्यक्रम का शुभारम्भ करेंगे।