ट्रॉमा सेंटर में गरीब मरीजों का फ्री में इलाज का अधिकार जूनियर रेजिडेंट को भी

शुरुआत के 24 घंटे में ही मिलेगी यह सुविधा

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्व विद्यालय केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में आने वाले लावारिस, विपन्न, अंत्योदय योजना कैटेगरी वाले गम्भीर मरीजों का इलाज न रुके इसके लिए प्रथम 24 घंटे में 7500 रुपये तक के फ्री इलाज के लिए जूनियर रेजिडेन्ट से लेकर प्रभारी तक को अधिकार दिये गये हैं। इसका उद्देश्य किसी भी स्थिति में इलाज तुरंत शुरू हो जाये, यह सुनिश्चित करना है।

अलग-अलग स्तर पर 7500 रुपये तक के फ्री इलाज की सुविधा

यह जानकारी प्रवक्ता डॉ नरसिंह वर्मा ने देते हुए बताया कि चिकित्सा विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह व्यवस्था की है कि लावारिस, विपन्न, अंत्योदय योजना कैटेगरी के अंतर्गत आने वाले मरीजो के लिए जूनियर रेजिडेण्ट डॉक्टर द्वारा 500 रुपये, सीनियर रेजिडेण्ट डॉक्टर द्वारा 2000 रुपये तथा कन्सल्टेंट, ट्रॉमा सेण्टर प्रभारी तथा ट्रॉमा वेंटिलेटर प्रभारी द्वारा 5000 रुपये तक का इलाज प्रथम 24 घण्टे के लिए मुफ्त किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि किसी भी परिस्थिति में इलाज शुरू होने में विलम्ब न हो इसके लिए जूनियर रेजिडेंट को भी 500 रुपये तक के मुफ्त इलाज के अधिकार दिये गये हैं।

टीवीयू/आईसीयू के मरीजों को भी मिलेगा 10,000 रुपये तक का मुफ्त इलाज

उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त टीवीयू/आईसीयू इंचार्ज को भी यह अधिकार दिये गये हैं कि उनके द्वारा टीवीयू/आईसीयू के मरीजों के लिए 10,000 रुपये तक का इलाज प्रथम 24 घण्टे के लिए मुफ्त किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था केवल ट्रॉमा सेण्टर मे उपचार हेतु आने वाले मरीजो के लिए है। डॉ वर्मा ने बताया कि इस व्यवस्था के तहत आने वाले खर्च को केजीएमयू वेलफेयर सोसाइटी द्वारा वहन किया जायेगा।