सूप और सलाद से करें पार्टी में खाने की शुरुआत

दीप्ति श्रीवास्तव

लखनऊ। आजकल सहालग के दिनों में पार्टियों का जबरदस्त दौर चल रहा है। जाहिर है पार्टी है तो फिर तरह-तरह के लजीज व्यंजन भी होंगे ही, ऐसे में आवश्यक यह है कि हम व्यंजनों का लुत्फ तो उठायें लेकिन अपनी सेहत को दरकिनार रखकर नहीं। पार्टी के भोजन को लेने में किन बातों को ध्यान में रखें इसके बारे में किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय की डाइटीशियन दीप्ति श्रीवास्तव ने सेहत टाइम्स को जानकारी दी।

घर से कुछ खाकर ही जाएँ पार्टी में

उन्होंने बताया कि सबसे पहले तो आवश्यक है कि हम जब पार्टी में जायें तो घर से चलते समय कुछ न कुछ अवश्य खा लें। इसमें एक कटोरी दलिया या ओट्स, लइया-चना, सैंडविच जैसी कोई भी चीज हो सकती है। पार्टी में पहुंचकर सबसे पहले पानी और सादा सूप पीना चाहिये सादे सूप से तात्पर्य बिना मक्खन का सूप से है। पानी अगर पैक्ड है तो ठीक है वरना ड्रम आदि में रखे पानी को न पीयें। अपने साथ पानी की बॉटल रखें उसी पानी को पीयें। उन्होंने बताया कि इसके बाद खाने की प्लेट उठाकर सबसे पहले सलाद लें और उसका सेवन करें। कुछ लोग कई तरह के फल भी रखते हैं तो उन फलों को ले लें। दीप्ति ने बताया कि सूप, फल और सलाद खाने से हमारा पेट थोड़ा भर जायेगा तो बाकी तली-भुनी चीजें  अपने आप ही कम मात्रा में खायी जा सकेंगी, क्योंकि ज्यादा ही चिकनाई वाले खाद्य पदार्थों से  पेट को नुकसान होने का खतरा रहता है।

दही खाएं सोच-समझकर

उन्होंने यह भी बताया कि हालांकि आजकल सलाद सभी पार्टियों में पन्नी से ढंके रहते हैं लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो खुले हुए सलाद में धूल आदि चिपकने की संभावना बढ़ जाती है तो ऐसे में सलाद न ही खायें तो बेहतर है। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार दही का सेवन जहां तक हो न करें क्योंकि पार्टियों में इस्तेमाल होने वाले दही की क्वालिटी के बारे में एक राय बनाना बहुत मुश्किल काम है। यदि आपको पक्का पता नहीं है तो संभव है दही की क्वालिटी खराब हो क्योंकि पकायी जाने वाली चीजों का तो यह है कि पकाने के बाद उनके कीटाणु मर जायेंगे लेकिन दही चूंकि पकाया नहीं जाता है इसलिए वह यदि खराब हो गया है तो नुकसान करेगा।
उन्होंने बताया कि अब तो जाड़ों के मौसम में भी आइसक्रीम पार्टियों में चलना आम बात है लेकिन बदलते मौसम में बच्चों और बुजुर्गों को आइसक्रीम खाते समय ध्यान रखना चाहिये बुजुर्गों में खासतौर से जिन्हें अस्थमा की प्रॉब्लम है उन्हें आइसक्रीम नहीं खानी चाहिये वह रसगुल्ला आदि खा सकते हैं।