मई अंत तक केजीएमयू में शुरू हो जायेगी जेनरिक फार्मेसी

मरीजों का इलाज 30 से 40 प्रतिशत हो जायेगा सस्ता

लखनऊ। केजीएमयू परिसर में अगले 15 से 20 दिनों में आम जन को जेनरिक दवाएं उपलब्ध हो जायेंगी । इसके लिए बुधवार को केन्द्र सरकार द्वारा अधिकृत अमृत फार्मेसी के अधिकारियों के साथ केजीएमयू के अधिकारियों ने साझा अनुबंध किया है। अनुबंध की जानकारी देते हुये एचआरएफ इंचार्ज डॉ.अजय ङ्क्षसह का कहना है कि शुरूआत में दो काउंटर, न्यू ओपीडी व शताब्दी बिल्डिंग में शुरू किये जायेंगे। मई अंत या जून प्रथम सप्ताह में जेनरिक दवाएं आने से मरीजों का इलाज 30 से 40 फीसदी स्वत:सस्ता हो जायेगा।

डॉ.अजय सिंह नें बताया कि अमृत फार्मेसी दिल्ली के एम्स समेत 17 जगहों पर जेनरिक दवाएं उपलब्ध करा रही है। जेनरिक दवाओं से मरीजों को सस्ता और गुणवत्ता युक्त इलाज मिलेगा । प्रदेश सरकार के चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन के निर्देश के अनुपालन में अमृत फार्मेसी के साथ एमओयू साइन किया गया है। अनुबन्ध के तहत पहले चरण में दो फार्मेसी शुरू होंगी, दोनो फार्मेसी में कैंसर की 164 दवाएं और हार्ट संबन्धी 191 दवाएं, 360 प्रकार की हार्ट व आर्थो इंप्लांट आदि दवाएं उपलब्ध होंगी। इंप्लांट में हार्ट के स्टंट समेत जोड़ों में पडऩे वाले उपकरण भी मिलेंगे। इसके अलावा पांच हजार से अधिक 5200 दवाएं व सर्जिकल उत्पाद उपलब्ध होंगे। इस अवसर पर कुलपति प्रो.एमएलबी भटट्, डॉ.नरसिंह वर्मा समेत कई अधिकारी मौजूद थे।