चुनाव के साथ होम्योपैथी का विकास

डॉ अनुरुद्ध वर्मा

होम्योपैथिक चिकित्सकों ने स्थानीय निकाय चुनाव लड़ रहे सभी प्रत्याशियों से होम्योपैथी पद्धति के विकास एवं हितों के प्रति संकल्पबद्धता व्यक्त करने की अपील की है।

केन्द्रीय होम्योपैथी परिषद के  सदस्य डाॅ0 अनुरूद्ध वर्मा ने कहा है कि शहरों एवं कस्बों में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने में स्थानीय निकायों की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है और सस्ती, सरल, सुलभ एवं दुष्परिणाम रहित होम्योपैथी की शहरों एवं कस्बों में लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है और होम्योपैथी जनता को स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध कराने का महत्वपूर्ण साधन हो सकती है इसलिये स्थानीय निकायों में बंद होम्योपैथिक डिस्पेंसरीज को पुनः चालू करने, नये होम्योपैथिक डिस्पेंसरीज स्थापित करने, सचल होम्योपैथिक चिकित्सालय संचालित करने, मोहल्ला होम्योपैथिक डिस्पेंसरीज खोलने एवं निजी होम्योपैथिक क्लीनिकों पर किसी प्रकार का टैक्स न लगाये जाने आदि मुद्दों पर प्रतिबद्धता व्यक्त करने की अपील की है।

डाॅ0 अनुरूद्ध वर्मा नें आशा व्यक्त की है कि सभी प्रत्याशी होम्योपैथी के हितों की रक्षा एवं उसके विकास तथा प्रचार प्रसार को प्राथमिकता देंगे। उन्होंने होम्योपैथिक चिकित्सकों से होम्योपैथी के हितों की रक्षा के प्रति संकल्पबद्धता व्यक्त करने वाले प्रत्याशियों का समर्थन करने का आह्वाहन किया है।